बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों के लिए सरकार है पूरी तरह से संवेदनशील : योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि राज्य में बाढ़ से बचाव के लिए अभूतपूर्व कार्य किये गए हैं.

बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों के लिए सरकार है पूरी तरह से संवेदनशील : योगी
फाइल फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि राज्य में बाढ़ से बचाव के लिए अभूतपूर्व कार्य किये गए हैं. वहीं, प्रदेश की बाढ़ नियंत्रण मंत्री स्वाति सिंह ने विपक्ष के इन आरोपों को सिरे से खारिज किया कि सरकार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों और पीड़ितों की कोई मदद नहीं कर रही है. स्वाति सिंह ने विधानसभा में जानकारी दी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मई महीने में बाढ़ की दृष्टि से संवेदनशील 40 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ बैठक कर बाढ़ से पूर्व तैयारी के निर्देश दिए थे.

बाढ़ से बचाव के लिए किये गए कार्य अभूतपूर्व- सीएम योगी
उन्होंने कहा कि चाहे सामग्री एकत्र करने की बात हो, राहत सामग्री हो, मवेशी टीकाकरण हो, जगह चिन्हित करने की बात हो या बचाव कार्य हो, विस्तार से चर्चा कर निर्देश दिए गए. बाद में अनुपूरक बजट पर बोलते हुए योगी ने सदन में कहा कि बाढ़ से बचाव के लिए किये गए कार्य अभूतपूर्व हैं. पहले ऐसा कार्य कभी नहीं हुआ. सरकार इसके प्रति पूरी संवेदनशील है लेकिन कुछ लोगों ने बाढ़ बचाव कार्य को ठेके—पट्टों से जोड़ दिया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने ठेके की प्रथा बंद कर दी है. ई-टेंडरिंग शुरू कर दी है. इस वर्ष कुछ गांव छोड़ दें, तो बाढ़ से बचाव के प्रयासों से पूरा प्रदेश लगभग सुरक्षित है. लेकिन विपक्ष हर मुद्दे पर राजनीति करता है.

विपक्ष चर्चा नहीं व्यवधान चाहता है- मुख्यमंत्री 
सीएम योगी ने कहा कि हर मुद्दे पर सदन को बंधक बनाने का कुप्रयास करने की लोकतंत्र में इजाजत किसी को नहीं दी जानी चाहिए. सदन चर्चा के लिए होना चाहिए. सरकार ने बार-बार कहा है कि हम हर मुददे पर चर्चा को तैयार हैं, लेकिन बार-बार व्यवधान क्यों होता है, समझ से परे है. इससे पहले नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी और कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू ने सरकार पर बाढ़ राहत कार्यों और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों पर पर्याप्त ध्यान नहीं देने का आरोप लगाया.

(इनपुट भाषा से)