कोरोना संकट के बीच प्रवासियों का पलायन फिर शुरू, योगी सरकार ने जारी की क्वॉरंटीन गाइडलाइन

यूपी के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इन क्वॉरंटीन सेंटरों में मूलभूत सुविधायों के साथ-साथ भोजन पानी की व्यवस्था होगी. 

कोरोना संकट के बीच प्रवासियों का पलायन फिर शुरू, योगी सरकार ने जारी की क्वॉरंटीन गाइडलाइन
महाराष्ट्र में मिनी लॉकडाउन की घोषणा के बाद मुंबई के सीएसटी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने पहुंचे प्रवासी.

लखनऊ: महाराष्ट्र और गुजरात में कोरोना के कारण बने हालातों के बाद एक बार फिर यूपी-बिहार के प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू हो चुका है. इसको ध्यान में रखकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के हर जिले के गांवों व शहर में क्वॉरंटीन सेंटर बनाने के निर्देश दिए हैं. ताकि प्रवासियों को यहां रखा जा सके. 

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) ने दूसरे राज्यों से यूपी लौटने वाले प्रवासियों को क्वॉरंटीन करने को लेकर दिशानिर्देश जारी किए हैं. इसके मुताबिक कोरोना के लक्षण वाले प्रवासी जो संक्रमित नहीं पाए जाते हैं उनको 14 दिन और बिना लक्षण वालों को 7 दिन के लिए होम क्वॉरंटी में भेजा जाएगा.

वाराणसी जानें की सोच रहे हैं तो वहां के कमिश्नर और DM की यह सलाह जरूर पढ़ लें

यूपी के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इन क्वॉरंटीन सेंटरों में मूलभूत सुविधायों के साथ-साथ भोजन पानी की व्यवस्था होगी. हर जिले के जिलाधिकारी अपने स्तर पर बाहर से आने वाले लोगों को इन क्वॉरंटीन सेंटरों में ठहराने की व्यवस्था करेंगे. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कंटेनमेंट जोन में प्रभावी नियंत्रण करने के निर्देश दिए हैं.

कोरोना का कहर: UP में अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त, 24 घंटे में 20510 नए केस

नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक में सबंधित विभागों के अधिकारियों को आरटीपीसीआर के टेस्ट बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. इस समय 1 लाख आरटीपीसीआर के टेस्ट रोजाना हो रहे हैं, इस संख्या को बढ़ाकर 1.50 लाख टेस्ट प्रतिदिन किए जाने के निर्देश दिए हैं. बाकी एक लाख रैपिड एंटीजेन टेस्ट किए जाएंगे. इस तरह रोजाना 2.50 लाख टेस्ट करने का लक्ष्य है. 

रितेश पांडे के नए गाने "कवना चक्कर में फंसनी" ने इंटरनेट पर उड़ाया गर्दा, देखा क्या?

मुख्यमंत्री के निर्देश पर लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर व वाराणसी के कोविड अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई गई है. आपको बता दें कि यूपी में कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक रूप ले चुकी है. बीते 24 घंटों में 20,000 से ज्यादा कोरोना संक्रमित सामने आए हैं. राजधानी लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर व वाराणसी में स्थितियां सबसे ज्यादा खराब हैं. वहीं दूसरी लहर में मौतें भी पहली लहर के मुकाबले काफी ज्यादा हो रही हैं.

WATCH LIVE TV