उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई चिंता, संक्रमितों का आंकड़ा एक हजार के पार

मुख्य सचिव ने बताया कि पूरे प्रदेश में 13 हजार 9 सौ आइसोलेशन बेड तैयार कर लिए गए हैं, लगातार स्वास्थ्य विभाग मरीजों की मॉनिटरिंग कर रहा है.

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई चिंता, संक्रमितों का आंकड़ा एक हजार के पार
फाइल फोटो

देहरादून: उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा एक हजार के पार पहुंच गया है, ऐसे में शासन-प्रशासन की चिंता और बढ़ गई है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1043 हो गई है. अब तक कुल 252 कोरोना रोगियों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज भी किया जा चुका है. वहीं, 746 मरीजों का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

मुख्य सचिव ने बताया कि पूरे प्रदेश में 13 हजार 9 सौ आइसोलेशन बेड तैयार कर लिए गए हैं, लगातार स्वास्थ्य विभाग मरीजों की मॉनिटरिंग कर रहा है. फिलहाल उत्तराखंड में कम्यूनिटी स्प्रेड की कोई आशंका नहीं है. मुख्य सचिव ने दावा किया कि कोरोना से निपटने के लिए सभी इंतजाम पुख्ता हैं.

मुख्य सचिव ने कहा कि उत्तराखंड आने वालों को रजिस्ट्रेशन जरूर कराना होगा. इसके अलावा उत्तराखंड में रेड जोन से दूसरी जगह जाने वालों को परमिशन जरूरी होगी. जबकि ग्रीन और ऑरेंज जोन वाले लोगों को आवाजाही के लिए सिर्फ रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके अलावा सरकार ने ये फैसला लिया है कि देश के जिन शहरों में कोरोना के ज्यादा मरीज हैं, वहां से आने वालों को अनिवार्य रूप से 7 दिन तक इंस्टीट्यूशनल क्ववॉरंटीन में रहना होगा. इसके बाद 14 दिन तक होम क्वॉरंटीन में भी रहना होगा. होम क्वॉरंटीन में भेजने से पहले एक शपथ पत्र लिया जाएगा ताकि वो नियमों का उल्लंघन ना करें. क्वॉरंटीन के नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

वहीं, स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार उत्तराखंड में रिकवरी रेट 24.32 प्रतिशत और डबलिंग रेट घटकर 5.89 दिन रह गया है.