हापुड़ में दलित महिला का गैंगरेप, FIR दर्ज करने में पुलिस ने की आनाकानी तो खुद को लगाई आग

गैंगरेप पीड़िता कई साल से न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है. स्थानीय एसपी यशवीर सिंह के आदेश पर 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

हापुड़ में दलित महिला का गैंगरेप, FIR दर्ज करने में पुलिस ने की आनाकानी तो खुद को लगाई आग
गैंगरेप पीड़िता का दिल्ली के अस्पताल में इलाज चल रहा है. प्रतीकात्मक तस्वीर

हापुड़: राजस्थान के अलवर में दलित महिला के साथ हुए गैंगरेप पर जारी राजनीतिक बयानबाजी के बीच उत्तर प्रदेश के हापुड़ में एक ऐसा ही मामला सामने आया है. उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड के थाना बाबूगढ़ के एक गांव में महिला ने गैंगरेप करने का आरोप लगाया है. गैंगरेप पीड़िता कई साल से न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है. स्थानीय एसपी यशवीर सिंह के आदेश पर 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

बताया जा रहा है कि महिला की शिकायत को पुलिस लगातार नजरअंदाज कर रही थी, इस बात से परेशान होकर महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया. पीड़ित महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. पीड़िता का दिल्ली के अस्पताल में इलाज चल रहा था. महिला आयोग की दखल देने के बाद हापुड पुलिस हरकत में आई. पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया. पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है.

आप को बता दें कि पीड़िता का मायका (मां का घर) हापुड़ के थाना सिंभावली के एक गांव में है. उसकी शादी सबसे पहले हापुड के स्वर्ग आश्रम रोड निवासी शख्स से हुई थी. पीड़ित महिला ने इस शख्स को छोड़ने के बाद थाना बाबूगढ़ छेत्र के एक गांव में रहने वाल शख्स से अप्रैल 2012 को गढ़ में कोर्ट मैरिज किया. 

पूर्व प्रधान अनिल कुमार ने बताया कि महिला के पति और व ग्रामीणों की मानें तो पीड़िता गांव के ही रहने वाले एक अन्य शख्स के साथ करीब डेढ़ साल पहले चली गई थी. तभी से यह महिला गैंगरेप का आरोप लगा रही है. इस महिला के वायरल वीडियो में पीड़िता 5 लोगों पर आरोप लगा रही है. वहीं हापुड पुलिस ने 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. 

एसपी हापुड यशवीर सिंह का कहना है के पीड़ित महिला ने मुरादाबाद के सिविल लाइन थाना छेत्र में खुद को आग लगाई गई थी. अब एक वीडियो वायरल हो रहा, जिसमे पीड़िता 2016 में अपने साथ गैंगरेप की घटना होना बता रही है. मामले में 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. जांच कराई जा रही है. जांच के बाद अगर पीड़िता के आरोप सत्य पाए जाते हैं तो आरोपियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

आरोपी गोपाल का कहना है कि पीड़िता काफी शातिर है, जिसने अपने पहले पति के होते हुए उसे मरा बताकर हमारे गांव के एक शख्स से शादी कर ली. अब करीब डेढ़ साल पहले यह महिला अपने पति व तीन बच्चो को छोड़कर गांव के एक युवक के साथ फरार हो गयी थी. अब ये महिला गांव वालों पर झूठे आरोप लगा रही है, जो सरासर गलत है.