UP BUDGET 2019: सुकन्या समृद्धि योजना के बाद UP सरकार ने बेटियों को दी ये बड़ी सौगात

बजट में बेटियों के लिए 'कन्या सुमंगला' योजना की घोषणा की गई हैं, जिसके लिए सरकार ने बजट में 1200 करोड़ का प्रावधान किया है.

UP BUDGET 2019: सुकन्या समृद्धि योजना के बाद UP सरकार ने बेटियों को दी ये बड़ी सौगात
बेटियों की पढ़ा-लिखकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है.

नई दिल्ली/लखनऊ: लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपने तीसरा बजट पेश किया. वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने 4 लाख 79 हजार 701 करोड़ 10 लाख रुपये का बजट पेश किया. लोकसभा चुनाव से पहले यूपी सरकार ने अपने बजट में सभी को खुश करने की कोशिश की है. योगी सरकार ने बेटियों को अपने कार्यकाल के तीसरे बजट में खास सौगात दी है. बजट में बेटियों के लिए 'कन्या सुमंगला' योजना की घोषणा की गई हैं, जिसके लिए सरकार ने बजट में 1200 करोड़ का प्रावधान किया है.

क्या है 'कन्या सुमंगला योजना'
'कन्या सुमंगला योजना' के तहत बेटी के पैदा होने से लेकर उसकी पढ़ाई, उच्च शिक्षा और आर्थिक सहायता इस योजना के तहत दी जाएगी. बेटियों की पढ़ा-लिखकर आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है. इस योजना के तहत बेटी के कक्षा छह में पहुंचने पर तीन हजार रुपये, कक्षा आठ में पहुंचने पर पांच हजार, 10 में पहुंचने पर सात हजार और कक्षा 12 में पहुंचने पर आठ हजार रुपये दिए जाने की बात कही गई है. वहीं, बेटी जब 21 साल की होगी उस समय उसे एकमुश्त दो लाख रुपये मिलेंगे. 

वित्त मंत्री ने क्या कहा
इस योजना को ऐलान करते हुए वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने कहा कि बेटियों के स्वास्थ्य एवं शिक्षा के स्टार में वृद्धि करने, उनके भविष्य को उज्जवल बनाने, महिलाओं के प्रति सोच में सकारात्मक परिवर्तन लाने एवं उनके प्रति सम्मान भाव जागृत करने के उद्देश्य से आगामी वित्तीय वर्ष से कन्या सुमंगला योजना लाई जा रही है. इसके लिए 1200 करोड़ रुपये की व्यवस्था दी गई है.

 

मोदी सरकार ने शुरू की थी सुकन्या समृद्धि योजना
मोदी सरकार ने साल 2015 में बालिकाओं के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) आरंभ की थी. इस योजना के तहत किसी बच्ची के जन्म लेने के बाद से 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये जमा करके अकाउंट खोला जा सकता है. चालू वित्त वर्ष में इसके तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराए जा सकते हैं. इस अकाउंट को खोलने के बाद यह बेटी के 21 साल के होने पर या 18 साल की उम्र के बाद उसकी शादी होने तक चलाया जा सकता है. खाता खोलने के 14 साल तक इसमें पैसा जमा करना होगा. सुकन्‍या समृद्धि योजना का खाता आप किसी भी पोस्‍ट ऑफिस या बैंकों के अथॉराइज्‍ड ब्रांच में खुलवा सकते हैं. आम तौर पर जो भी बैंक पीपीएफ खाता खोलने की सुविधा उपलब्‍ध कराते हैं, वे सुकन्‍या समृद्धि योजना का खाता भी खोलते हैं.