दून पुलिस के हत्थे चढ़ा ओड़िशा कारोबारी किडनैपिंग केस का मास्टरमांइड, 10 जुलाई से था फरार

ओड़िशा पुलिस ने मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए देहरादून पुलिस से संपर्क किया था, जिसके बाद सर्विलांस के जरिए राजीव की लोकेशन को ट्रेस किया गया और आज रायपुर से धरदबोचा.

दून पुलिस के हत्थे चढ़ा ओड़िशा कारोबारी किडनैपिंग केस का मास्टरमांइड, 10 जुलाई से था फरार
दून पुलिस की गिरफ्त में ओडिशा कारोबारी किडनैपिंग केस का मुख्यारोपी.

देहरादून: ओड़िशा के कारोबारी नरेश अग्रवाल अपहरण मामले में मुख्यारोपी राजीव दुआ देहरादून पुलिस के हत्थे चढ़ा गया है. रविवार को दून पुलिस और SOG की टीम ने रायपुर थाना क्षेत्र से अपरहरण कांड के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया.

पुलिस के मुताबिक, 10 जुलाई को राजीव ने अपने तीन साथियों के साथ ओड़ीशा के संबलपुर में कारोबारी नरेश अग्रवाल को किडनैप किया था. लेकिन जब मामले ने तूल पकड़ा तो किडनैपर कारोबारी को किराए के कमरे में छोड़कर फरार हो गए. जिसके बाद से राजीव की तलाश की जा रही थी.

ये भी पढ़ें: फिर कटघरे में UP की कानून व्यवस्था, कौशांबी में बीते 48 घंटे में चौथी हत्या

पुलिस ने बताया कि आरोपी की देहरादून के पलटन बाजार में कपड़े की दुकान थी. लेकिन कारोबार में घाटा होने की वजह से वो 2018 में ही ओड़िशा अपने मामा के पास चला गया था. जहां उसने एक बार फिर काम शुरू किया लेकिन घाटा होता देख कारोबारी नरेश अग्रवाल को किडनैप कर लिया.

पुलिस ने बताया कि ओड़िशा पुलिस ने मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए देहरादून पुलिस से संपर्क किया था, जिसके बाद सर्विलांस के जरिए राजीव की लोकेशन को ट्रेस किया गया और आज रायपुर से धरदबोचा. फिलहाल आरोपी से पूछताछ की जा रही है, साथ ही आरोपी के आपराधिक इतिहास की भी जानकारी जुटाई जा रही है. दून पुलिस ने बताया कि राजीव दुआ को जल्द ओड़िशा पुलिस के हवाले किया जाएगा.

WATCH LIVE TV: