अखिलेश जिंदाबाद का नारा सुनकर तमतमाए मुलायम, कहा- 'हमें नहीं सुनोगे'

कार्यकर्ताओं को आगाह करते हुए उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए जिस तरह बीजेपी की तैयारी है, वैसी तैयारी समाजवादी पार्टी की नहीं है. उन्होंने कहा कि इस बारे में अखिलेश यादव से भी उनकी बात हुई है. 

अखिलेश जिंदाबाद का नारा सुनकर तमतमाए मुलायम, कहा- 'हमें नहीं सुनोगे'
मुलायम सिंह ने कहा कि बीजेपी ने 2019 के लिए ज्यादा तैयारी की है.

लखनऊ: नए साल में नए अंदाज के साथ मुलायम सिंह यादव, पार्टी में जान फूंकने के लिए खुद सामने आ गए हैं. इस दौरान जैसे ही मुलायम सिंह ने लखनऊ के पार्टी कार्यालय में हुई चौपाल बोलना शुरू किया, तो कार्यकर्ता अखिलेश यादव के नाम के नारे लगाने लगे, जिसपर मुलायम सिंह ने कार्यकर्ताओं को डांट लगाते हुए कहा कि अब हमें नहीं सुनोगे. वहीं, कार्यकर्ताओं को आगाह करते हुए उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए जिस तरह बीजेपी की तैयारी है, वैसी तैयारी समाजवादी पार्टी की नहीं है. उन्होंने कहा कि इस बारे में अखिलेश यादव से भी बात हुई है. 

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव ने नसीहत देते हुए कहा कि 2019 के लिए सपा को भी अब कमर कसने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने 2019 के लिए ज्यादा तैयारी की है. मुलायम ने कहा कि उनकी पार्टी में महिलाओं को अधिक जिम्मेदारी दी जानी चाहिए, क्योंकि एक महिला के जुड़ने से पूरा परिवार जुड़ता है.

उन्होंने कहा कि वह खुद भी पार्टी के कार्यक्रमों में हिस्सा लेने जाएंगे. कार्यकर्ता जहां भी कार्यक्रम बनाएंगे, वह पहुंचेंगे. मुलायम ने कहा कि सपा के अपने वोट भी पड़ गए तो जीत पक्की है. मुलायम सिंह यादव ने अपने संबोधन में उनके बराबर में बैठे सपा उपाध्यक्ष किरणमय नंदा पर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा कि सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा कोलकाता से आये हैं. उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम आसरे कुशवाहा पर भी चुटकी ली. उन्होंने कहा कि ये बीच-बीच में गायब हो जाते हैं और ये दुविधा में रहते हैं. उन्होंने कहा कि ये बात जानने वाली है कि दुविधा वाले लोग कभी भी आगे बढ़ नहीं सकते. 

इससे पहले उन्चौहोंने पाल में आए लोगों से नए साल की शुभकामनाएं देते हुए नौजवानों का आव्हान किया कि आने वाले लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को भारी मतों से विजयी बनाएं. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी जातिवादी नहीं नौजवानों की पार्टी है. नौजवान ही परिवर्तन के ध्वजवाहक होते हैं इसलिए वे ही फिर सत्ता परिवर्तन करेंगे.