IS मॉड्यूल मामला: संदिग्धों की तलाश में अमरोहा में NIA-ATS की संयुक्त छापेमारी, मचा हड़कंप

एनआईए अपने साथ 26 दिसंबर को गिरफ्तार किए गए सईद को लेकर आई है. बताया जा रहा है कि कुछ संदिग्धों की तलाश के लिए एटीएस की टीम यहां पहुंची है. 

IS मॉड्यूल मामला: संदिग्धों की तलाश में अमरोहा में NIA-ATS की संयुक्त छापेमारी, मचा हड़कंप
इस कार्रवाई के बाद से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है.

अमरोहा: उत्तर प्रदेश के अमरोहा जनपद में नए साल के पहले दिन एनआईए और यूपीएटीएस की संयुक्त टीम ने एक बार फिर से छापेमारी की है. छापेमारी कार्रवाई की वजह से इलाके की हड़कंप मचा है. एनआईए और एटीएस की टीम ने सैदपुर इमा गांव और पिलाकुण्ड गांव में छापेमारी की है. जानकारी के मुताबिक, एनआईए अपने साथ 26 दिसंबर को गिरफ्तार किए गए सईद को लेकर आई है. बताया जा रहा है कि कुछ संदिग्धों की तलाश के लिए एटीएस की टीम यहां पहुंची है. 

एटीएस की टीम ने सईद के घर से कुछ सामान बरामद किए हैं. टीम ने कुछ स्थानों की रेकी भी की है. अमरोहा से गिरफ्तार आईएसआईएस के नए मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम का सरगना मुफ्ती हुसैन समेत चार संदिग्ध आतंकियों को एनआईए ने रिमांड पर ले रखा है, तब से संदिग्ध आतंकियों से एनआईए और एटीएस पूछताछ कर रही है. इनके पास से ISIS के पैम्‍पलेट मिले हैं. ये संगठन के स्लीपर सेल के तौर पर काम कर रहे थे. इस संगठन के कई लोग रडार पर हैं.

अंदेशा है कि सईद से पूछताछ के बाद ही वो दोबारा उसे लेकर अमरोहा पहुंची है. बताया जा रहा है कि 40 गाड़ियों के काफिले के साथ एटीएस अमरोहा पहुंची है. सैदपुर इमा गांव के लोगों का कहना है कि एनआईए की टीम ने शहीद के घर में दीवार पर लिखे वह एक नाम को आईएसआईएस का नाम बताया है. लेकिन, लोगों की कहना है कि इरशाद ने अपना नाम लिखा हुआ है जिसे एनआईए की टीम आईएसआईएस बता रही है अभी फिलहाल एनआईए की टीम की लगातार छापेमारी जारी है. 

एनआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि मंगलवार (01 जनवरी) अमरोहा में पांच जगहों पर छापे मारे जा रहे हैं. इससे पहले दिसंबर में एनआईए ने 17 जगहों पर छापे मारे थे, जिनमें दिल्ली के जाफराबाद इलाके में छह, अमरोहा में छह, लखनऊ और हापुड़ में दो-दो जगहों और मेरठ में एक जगह छापा मारा गया था. छापेमारी के दौरान 150 राउंड गोला-बारूद के अलावा स्वदेशी रॉकेट लॉन्चर, 12 पिस्तौल, 112 अलार्म घड़ियां, 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड, कई लैपटॉप और विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक गैजेट बरामद हुए थे. 

एनआईए ने 25 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री, जैसे पोटेशियम नाइट्रेट, अमोनियम नाइट्रेट, सल्फर, शुगर मैटेरियल पेस्ट, मोबाइल फोन सर्किट, बैटरी, 51 पाइप, रिमोट कंट्रोल कार ट्रिगरिग स्विच, रिमोट स्विच के लिए वायरलेस डिजिटल डोरबेल, स्टील कंटेनर, इलेक्ट्रिक तार, चाकू, तलवार, आईएस से संबंधित साहित्य और 7.5 लाख रुपये नकद भी जब्त किया था.

'हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम' के सभी गिरफ्तार सदस्य एनआईए की हिरासत में हैं. एजेंसी ने 20 दिसंबर को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधियां(रोकथाम) अधिनियम की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था.