close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोकशी के आरोप में गिरफ्तार युवक को छुड़ाने पहुंचे कांग्रेस नेता पीएल पुनिया, थाने के बाहर दे रहे धरना

गोकशी की शिकायत पर पुलिस थाना क्षेत्र के टेरा गांव निवासी शाकिर को पकड़कर थाने लाई थी. शाकिर के छोटे भाई ने सांसद पीएल पुनिया से मिलकर भाई को बेकसूर बताया.

गोकशी के आरोप में गिरफ्तार युवक को छुड़ाने पहुंचे कांग्रेस नेता पीएल पुनिया, थाने के बाहर दे रहे धरना
फाइल फोटो

बाराबंकी: बाराबंकी के जैदपुर इलाके में गोकशी की शिकायत पर जिसे जैदपुर पुलिस गिरफ्तार कर थाने लाई, उसे बेकसूर बताकर छुड़ाने के लिए राज्यसभा सदस्य पीएल पुनिया थाने पहुंच गए. मगर, प्रभारी निरीक्षक ने आरोपी को छोड़ने से इनकार कर दिया. ऐसे में सांसद समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए. पुलिस पर गिरफ्तार युवक को थर्ड डिग्री देने का आरोप लगाते हुए वह पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज करने की मांग पर अड़ गए. इस दौरान खबर मिलते ही तनुज पुनिया समर्थकों के साथ थाने पहुंचे तो एएसपी और सीओ सदर समेत तमाम पुलिस अधिकारी भी पहुंचे. 

दरअसल गोकशी की शिकायत पर पुलिस थाना क्षेत्र के टेरा गांव निवासी शाकिर को पकड़कर थाने लाई थी. शाकिर के छोटे भाई ने सांसद पीएल पुनिया से मिलकर भाई को बेकसूर बताया. इस पर देर रात पीएल पूनिया ने थाने पहुंचकर प्रभारी निरीक्षक अमरेश सिंह बघेल से बात की. उन्होंने गिरफ्तार युवक को बेकसूर बताकर इसे विपक्षियों की साजिश बताया. मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है. इस दौरान पुनिया ने गिरफ्तार शाकिर से बात की तो उसने पुलिस पर थर्ड डिग्री देने की बात बताई. इस पर पुनिया समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए. 

VIDEO: छेड़खानी कर करता था परेशान, महिला ने चप्पल से उतारा आशिकी का 'भूत'

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने बताया कि दोषी पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज होने तक धरना जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि एक बेकसूर को पुलिस ने थाने पर थर्ड डिग्री दी है, जो कि गलत है. पुनिया ने शाकिर को बेकसूर बताकर उसे छोड़ने और साथ ही दोषी पुलिस कर्मियों पर केस दर्ज करने की मांग की. 

वहीं बाराबंकी के अपर जिलाधिकारी ने बताया कि शाकिर नाम के एक आरोपी को पुलिस ने गोकशी के आरोप में पकड़ा है. सांसद उसे बेकसूर बता रहे हैं. पूरे मामले की जांच कराई जी रही है, जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके मुताबिक कार्रवाई की जाएगी. साथ ही एडीएम ने कहा कि आचार संहिता लागू होने के बाद भी इतनी संख्या में लोग थाने पर इकट्ठा बैठे, इस मामले में भी प्रशासन कार्रवाई करेगा.