नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ मऊ में उग्र हुआ प्रदर्शन, थाने की बाउंड्री वाल तोड़कर फूंके वाहन

प्रदर्शनकारियों ने दक्षिणटोला थाने की बाउंड्री वाल गिरा दी है. साथ ही थाने में रखे कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया. 

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ मऊ में उग्र हुआ प्रदर्शन, थाने की बाउंड्री वाल तोड़कर फूंके वाहन
मऊ में CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन

मऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मऊ (Mau) जिले में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ प्रदर्शन उग्र हो गया है. ताजा जानकारी के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने दक्षिणटोला थाने की बाउंड्री वाल गिरा दी है. साथ ही थाने में रखे कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया. जिसके बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने बामुश्किल आग पर काबू पाया.

उधर, पथराव और आगजनी की घटना के बाद मऊ जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है. शहर में जिलाधिकारी और एसपी भारी फोर्स के साथ रूट मार्च कर रहे हैं.

बता दें कि सोमवार को हजारों की संख्या में मिर्जाहादीपुरा चौक पर लोग नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंचे. इस दौरान दोपहर के वक्त प्रदर्शनकारियों ने पहले रोडवेज बसों को अपना निशाना बनाया. और बसों के शीशे के तोड़ दिए गए. जिसमें कुछ यात्रियों को हल्की चोटें आने की खबर थी. प्रदर्शनकारियों ने केन्द्र सरकार और दिल्ली पुलिस के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की.

उधर, नागरिकता कानून के विरोध में दिल्ली समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में जारी विरोध-प्रदर्शन पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आरोप लगाया है कि ये सब कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (आप) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) मिलकर करवा रही है. अमित शाह ने कहा है, 'नागरिकता कानून किसी की नागरिकता छिनने का काम नहीं कर रहा है, बल्कि यह गरीब, दुखियारे को नागरिकता देने काम करेगा.