UP: अब रेलवे में सोनिया के नाम से जाना जाएगा राजेश, जानिए क्या है वजह?

पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल में कार्यरत राजेश कुमार पांडेय अब सोनिया पांडेय के नाम से नौकरी करेंगी. काफी लम्बी कानूनी लड़ाई के बाद आखिर राजेश पांडे अब सोनिया पांडे हो गई हैं.

UP: अब रेलवे में सोनिया के नाम से जाना जाएगा राजेश, जानिए क्या है वजह?
राजेश अब बने सोनिया

सुबोध मिश्रा/बरेली: रेलवे के रिकॉर्ड में पहली बार लिंग परिवर्तन के आधार पर कर्मचारी का नाम बदला गया है. पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल में कार्यरत राजेश कुमार पांडेय अब सोनिया पांडेय के नाम से नौकरी करेंगी. काफी लम्बी कानूनी लड़ाई के बाद आखिर राजेश पांडे अब सोनिया पांडे हो गई हैं.

दरअसल साल 2003 में राजेश पांडे की बरेली के इज्जतनगर रेलवे मंडल की वर्कशॉप में टेक्नीशियन के पद पर नौकरी लगी थी. लेकिन शुरू से ही राजेश पांडे को लगता था कि उनके अंदर पुरुष के गुण नहीं हैं. इसीलिए उन्होंने अपना लिंग परिवर्तन कराने की सोची और सर्जरी के जरिये अपना लिंग परिवर्तन कराया और फिर अपना नाम राजेश पांडे से सोनिया पांडे कर लिया. लेकिन रेलवे की नौकरी में उनका नाम पुरुष के रूप में राजेश पांडे ही दर्ज रहा. जिसे उन्होंने सोनिया पांडे कराने के लिए काफी लम्बी लड़ाई लड़ी.

अपना नाम बदलवाने के लिए राजेश पांडे उर्फ़ सोनिया पांडे ने सबसे पहले इज़्ज़तनगर के कारखाना प्रबंधक कार्मिक को एक पत्र दिया. जिसके बाद कारखाना प्रबंधक इज़्ज़तनगर ने अग्रिम कार्यवाही करने के लिए 19 मार्च 2019 को महाप्रबंधक कार्मिक पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर को पत्र लिखा. जहां एक साल बाद अब राजेश पांडे का नाम अब रेलवे के रिकॉर्ड में सोनिया पांडे महिला के रूप में दर्ज कर लिया गया है. अब से राजेश पांडे सोनिया पांडे के रूप में जाने जाएंगे.