close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रोजगार के मुद्दे पर श्रम मंत्री का बेतुका बयान, कमी रोजगार की नहीं, बल्कि योग्य युवाओं की है

संतोष गंगवार ने बरेली में एक कार्यक्रम में कहा कि उत्तर भारतीयों में योग्यता की कमी है. उनके मुताबिक, अपने देश में कमी रोजगार की नहीं, बल्कि योग्य युवाओं की है.

रोजगार के मुद्दे पर श्रम मंत्री का बेतुका बयान, कमी रोजगार की नहीं, बल्कि योग्य युवाओं की है

बरेली: मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने के बाद तमाम मंत्री घूम-घूम कर पूरे देश में सरकार की उपलब्धियों को लोगों को गिना रहे हैं. इसी सिलसिले में केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार आज बरेली में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे और सरकार द्वारा लिए गए अब तक ऐतिहासिक फैसलों के बारे में लोगों को जानकारी दी.

अपने संबोधन में संतोष गंगवार ने बेरोजगारी के मुद्दे पर विवादास्पद बयान दे दिया. उन्होंने कहा कि, मंदी के दौर में बढ़ती बेरोजगारी के लिए उत्तर भारत के लोग ज्यादा जिम्मेदार हैं. उनमें नौकरी की जरूरत के हिसाब से योग्यताओं का अभाव है. उनके मुताबिक, देश में रोजगार की कोई कमी नहीं है. रोजगार के मुद्दे को विपक्ष बेवजह तूल दे रहा है.

संतोष गंगवार ने कहा कि देश में कमी रोजगार की नहीं, बल्कि योग्य युवाओं की है. उन्होंने कहा कि मेरा मंत्रालय इसी मामले की मॉनिटरिंग करता है. कंपनियों का कहना है कि हम लोगों को रोजगार देना चाहते हैं, लेकिन ज्यादातर लोगों में स्किल का अभाव है. वे उस नौकरी के लायक नहीं है. इसीलिए, बेरोजगारी का मुद्दा सामने आया है. हालांकि, उन्होंने अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती की बात को स्वीकार किया. संतोष गंगवार ने इस कार्यक्रम में अखिलेश यादव और आजम खान को भी निशाने पर लिया.