close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

SP के साथ दोबारा आने से शिवपाल ने किया इनकार, कांग्रेस के साथ गठबंधन पर कही ये बड़ी बात...

सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने पर उन्होंने कहा कि आर्थिक आधार पर सवर्णों को आरक्षण मिलना चाहिए. हम इसके पक्ष में हैं.

SP के साथ दोबारा आने से शिवपाल ने किया इनकार, कांग्रेस के साथ गठबंधन पर कही ये बड़ी बात...
फोटो साभार- @shivpalsinghyad

नई दिल्ली/लखनऊ: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के प्रमुख शिवपाल यादव ने सपा को दोहरा झटका दिया. समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री शिवकुमार बेरिया अपने कई समर्थकों और सपा पदाधिकारियों के साथ प्रसपा में शामिल हो गए. वहीं, आगामी लोकसभा चुनाव में होने वाले गठबंधन को लेकर उन्होंने बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि वो समाजवादी पार्टी में दोबारा कभी शामिल नहीं होंगे. लेकिन, कांग्रेस से गठबंधन पर उन्होंने कहा कि सेक्युलर पार्टियों के साथ वो और उनकी पार्टी सम्मानजनक डील को तैयार हैं.

अपनी पार्टी के कांग्रेस के साथ गठबंधन की अटकलों के बारे में प्रसपा प्रमुख ने कहा कि वह धर्मनिरपेक्ष पार्टियों के गठबंधन में शामिल होना चाहते हैं. अगर पार्टी को सम्मानजनक सीटें मिलेंगी तो हमारे दरवाजे खुले हैं. इस सवाल पर कि अगर सपा प्रमुख अखिलेश खुद मिलना चाहेंगे तो क्या रुख अपनाया जाएगा, शिवपाल ने कहा कि जो मुझे अपमान झेलना पड़ा, वह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता लेकिन बीजेपी को हराने के लिए अगर धर्म निरपेक्ष पार्टियां हमसे गठबंधन करना चाहेंगी तो हम निश्चित रूप से करेंगे.

वहीं, सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने पर उन्होंने कहा कि आर्थिक आधार पर सवर्णों को आरक्षण मिलना चाहिए. लेकिन, आरक्षण पर हामी भरते हुए उन्होंने बीजेपी पर तीखा हमला भी किया. उन्होंने कहा कि आरक्षण मिलना चाहिए, लेकिन मुझे नहीं है बीजेपी के वायदों पर भरोसा, बीजेपी के बहुत से वादे अधूरे हैं. 

उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव ने भी सवर्णों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने के लिये कदम उठाया था लेकिन उच्चतम न्यायालय ने उस पर रोक लगा दी थी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को विचार करना चाहिए कि जब उच्चतम न्यायालय ने रोक लगा दी है तो यह आरक्षण कैसे दिया जाएगा. यह बीजेपी का लॉलीपॉप है. यह पूरा होगा कि नहीं इस पर शक है.

सीबीआई की खनन मामले की जांच पर उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने ये जांच लेट शुरू किया है. उन्होंने कहा कि 2007 से 2012 तक गिट्टी और मिट्टी में लूट होती रही और अब लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही इसकी जांच हो रही है. 

समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री शिवकुमार बेरिया अपने कई समर्थकों और सपा पदाधिकारियों के साथ प्रसपा में शामिल हो गए. उन्हें शिवपाल सिंह यादव ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की सदस्यता दिलाई. इस दौरान शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि शिवकुमार बेरिया के आने से प्रसपा मज़बूत होगी. उन्होंने दावा किया कि बेरिया के आने से समाजवादी पार्टी कानपुर देहात से साफ हो जाएगी.