उत्तराखंड के इन इलाकों में फिर शुरू हुई बर्फबारी, मौसम ने बढ़ाई कंपकंपी और ठिठुरन

प्रदेश के उच्च हिमालयी क्षेत्रों जैसे बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब, नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क, औली, मुनस्यारी सहित चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और रूद्रप्रयाग जिलों के अंदरूनी हिस्सों में ताजा बर्फबारी शुरू हो गई है.

उत्तराखंड के इन इलाकों में फिर शुरू हुई बर्फबारी, मौसम ने बढ़ाई कंपकंपी और ठिठुरन
मौसम के बदले मिजाज के कारण चमोली, रूद्रप्रयाग सहित कई जिलों में गुरुवार को स्कूल-कॉलेज बंद रखे गये.

देहरादून: उत्तराखंड के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले इलाकों में बारिश होने से प्रदेश के ज्यादातर इलाके फिर कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गये हैं. प्रदेश के उच्च हिमालयी क्षेत्रों जैसे बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब, नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क, औली, मुनस्यारी सहित चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और रूद्रप्रयाग जिलों के अंदरूनी हिस्सों में ताजा बर्फबारी शुरू हो गई है.

उत्तराखंड के कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों तथा मैदानी इलाकों में बारिश हो रही है जिससे मौसम में कंपकंपी और ठिठुरन बढ़ गयी है. मौसम के बदले मिजाज के कारण चमोली, रूद्रप्रयाग सहित कई जिलों में गुरुवार को स्कूल-कॉलेज बंद रखे गये. राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार, सोनप्रयाग-केदारनाथ पैदल मार्ग बर्फबारी के कारण अवरूद्ध हो गया. उसे चालू करने की कोशिश की जा रही है.

बर्फबारी के कारण केदारनाथ में बिजली आपूर्ति भी बाधित है जिसे बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है. उत्तरकाशी में भटवाडी तहसील के हर्षिल तथा आसपास के क्षेत्र में भी बिजली आपूर्ति ठप होने की सूचना है. स्थानीय मौसम केंद्र ने अगले 24 घंटों में उत्तराखंड के अधिकांश क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश और कहीं-कहीं ओलावृष्टि की आशंका तथा पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों खासतौर से 2,000 मीटर से अधिक उंचाई वाले क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बर्फबारी तथा वर्षा की आशंका व्यक्त करते हुए चेतावनी जारी की है. इसके मद्देनजर प्रशासन को सजग रहने की सलाह दी गई है.