UP पंचायत चुनावः किरकरी हुई तो BJP ने काट दिया कुलदीप सेंगर की पत्नी का टिकट

कुलदीप सेंगर की पत्नी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद का टिकट देने के बाद, पार्टी ही नहीं सोशल मीडिया पर भी बीजेपी की किरकिरी हुई थी.

UP पंचायत चुनावः किरकरी हुई तो BJP ने काट दिया कुलदीप सेंगर की पत्नी का टिकट
कुलदीप सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर का टिकट बीजेपी ने रद्द कर दिया

उन्नावः उत्तर प्रदेश में चार चरणों में होने वाले पंचायत चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने रेप केस में दोषी पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को पंचायत चुनाव का टिकट दिया था. 8 अप्रैल को टिकट देने के तीन दिन बाद ही 11 अप्रैल को बीजेपी ने उनका टिकट रद्द कर दिया. कुलदीप सेंगर की पत्नी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद का टिकट देने के बाद, पार्टी ही नहीं सोशल मीडिया पर भी बीजेपी की किरकिरी हुई थी. 

क्या कहा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने?
संगीता सेंगर का टिकट रद्द करने का फैसला लेते हुए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि वार्ड नंबर 22 में संगीता सेंगर को टिकट दिया था, जिसे रद्द किया जाता है. अब वे बीजेपी की प्रत्याशी नहीं रहेंगी. जिलाध्यक्ष से आग्रह किया है कि वे शीघ्र ही तीन नामों का पैनल बनाकर पार्टी को सूचित करें. उन्हें उम्मीद है कि पार्टी पंचायत चुनाव में जीत दर्ज करेगी. सोशल मीडिया पर पार्टी की किरकिरी के सवाल पर प्रदेश अध्यक्ष बचते नजर आए. 

यह भी पढ़ेंः- रेप केस में दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को BJP ने दिया टिकट, इस पद के लिए लड़ेंगी चुनाव

संगीता सेंगर रह चुकी हैं जिला पंचायत अध्यक्ष
बीजेपी ने संगीता सेंगर को उन्नाव के फतेहपुर 84 तृतीय से जिला पंचायत सदस्य का उम्मीदवार बनाया था. उन्नाव में तीसरे चरण में होने चुनाव से पहले बीजेपी ने उन्हें दूसरी बार टिकट दिया था. जो रद्द किया जा चुका है, वो इससे पहले भी जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं.

कौन हैं कुलदीप सिंह सेंगर?
कुलदीप सिंह सेंगर बांगरमऊ से बीजेपी के टिकट पर 4 बार विधायक रह चुके हैं. साल 2017 में उन्नाव रेप केस में कुलदीप सिंह सेंगर को गिरफ्तार किया गया था. इस घटना के बाद बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर को 2019 में पार्टी से निकाल दिया था. पूरे मामले में कोर्ट ने सेंगर को रेप और अपहरण के मामले में दोषी पाते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई. रेप पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में हुई मौत के मामले में सेंगर समेत सभी दोषियों को कोर्ट ने 10 साल की सजा भी सुनाई थी.

यह भी पढ़ेंः-UP: कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में भी दोषी करार

कब होंगे चुनाव?
बता दें कि यूपी में पंचायत चुनाव 4 चरणों में होंगे. ये चुनाव 15 अप्रैल, 19 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को कराए जाएंगे. पहले चरण में 18 जिले, दूसरे चरण में 20 जिले, तीसरे चरण में 20 और चौथे चरण में 17 जिलों में चुनाव होंगे. वहीं, 2 मई को पंचायत चुनाव के रिजल्ट जारी किए जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः- समाजवादी पार्टी का हमला, कहा- रेप के दोषी कुलदीप सेंगर को बचाने में जुटी योगी सरकार

WATCH LIVE TV