विपक्षी दलों के हंगामे से नहीं चल सका सदन, यूपी विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि विपक्ष चाहता ही नहीं है कि सदन चले. इसी हंगामे के चलते यूपी विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई.

विपक्षी दलों के हंगामे से नहीं चल सका सदन, यूपी विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित
उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन होने के बाद योगी सरकार ने पूरे सूबे में धारा 144 लागू कर दी है.

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act- सीएए) को लेकर विधायकों के हंगामे के चलते यूपी विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई है. नियम 301 के तहत आई सभी सूचनाएं विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकृत कर दी हैं. बता दें कि विधानसभा सत्र विपक्षी पार्टियों के हंगामे के शुरू हुआ. यूपी सरकार की ओर से गुरुवार को अनुपूरक बजट पर चर्चा होनी थी. वहीं, समाजवादी पार्टी के नेता सुबह से ही सरकार के खिलाफ विधानसभा के बाहर धरना दे रहे थे. कुछ देर बाद विपक्षी दल सदन के अंदर वेल में आकर हंगामा करने लगे. 

दरअसल, सपा ने प्रदेशभर में सीएए के खिलाफ गुरुवार को प्रदर्शन करने का आह्वान किया था. वहीं, प्रशासन द्वारा पूरे यूपी में धारा 144 लागू कर दी गई है. इसके चलते सपा के घोषित प्रदर्शन कार्यक्रम नहीं हो सके और सपा के सदस्यों ने सदन के अंदर विरोध प्रदर्शन किया. सपा ने पुलिस उत्पीड़न को लेकर हंगामा मचाया. वहीं, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि विपक्ष चाहता ही नहीं है कि सदन चले. इसी हंगामे के चलते यूपी विधानसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई.

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन किया जा रहा है. असम से होते हुए अब सीएए के खिलाफ दिल्ली, बिहार और उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में पत्थरबाजी और आगजनी की घटनाएं सामने आई हैं. वहीं, उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन होने के बाद योगी सरकार ने पूरे सूबे में धारा 144 लागू कर दी है. इस दौरान प्रदेश में कहीं भी प्रदर्शन, जुलूस आदि की इजाजत नहीं है. 

उत्तर प्रदेश के DGP ओपी सिंह ने कहा कि अलीगढ़, मऊ, लखनऊ, प्रयागराज से गिरफ्तारियां हुई हैं. धारा 144 के उल्लंघन में 3 हजार से ज्यादा लोगों को नोटिस भेजे गए हैं. उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कोई भी अफवाह फैलाने की कोशिश न करे अगर ऐसा करते पाए गए तो कार्रवाई होगी. डीजीपी ने अपील करते हुए कहा कि माता-पिता अपने बच्चों को समझाएं कि किसी प्रदर्शन में हिस्सा न लें. अन्यथा उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होगी.

वहीं, नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन और बंद की सियासत को विपक्षी पार्टियां का भी साथ मिल रहा है. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ कांग्रेस भी विधानसभा में प्रदर्शन कर रही हैं. सीएए को लेकर सपा का प्रदर्शन भी जारी है. महिलाओं पर हो रहे अत्याचार, बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई  को लेकर सपा के कार्यकर्ता सड़क पर उतर गए हैं. लखनऊ के हजरतगंज स्थित आम्बेडकर प्रतिमा पर सपा के कार्यकर्ताओ ने प्रदर्शन किया. वहीं, पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है.

वहीं, नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने एक मेट्रो स्टेशन बंद करने का निर्णय लिया है. एलएमआरसी ने लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम स्टेशन को एहतियायत के तौर पर बंद कर दिया है. केडी सिंह बाबू स्टेडियम स्टेशन गुरुवार शाम 5 बजे तक बंद रहेगा. एलएमआरसी ने पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर मेट्रो स्टेशन बंद किया है.