close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP विधायक ने मायावती के खिलाफ की अभद्र बयानबाजी, सतीशचंद्र मिश्रा बोले- इन्हें आगरा में भर्ती कराओ

बीजेपी विधायक साधना सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री न महिला लगती हैं और न पुरुष लगती हैं.

BJP विधायक ने मायावती के खिलाफ की अभद्र बयानबाजी, सतीशचंद्र मिश्रा बोले- इन्हें आगरा में भर्ती कराओ
मुगलसराय विधायक की आपत्तिजनक बयानबाजी पर बसपा ने भी पलटवार किया है.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुगलसराय से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक साधना सिंह ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती को लेकर अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर सियासी गलियारों में हलचल मचा दी है. बीजेपी विधायक ने एक जनसभा के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री न महिला लगती हैं और न पुरुष लगती हैं. जिस महिला की भारतीय जनता पार्टी के नेता ने आबरू लुटते-लुटते बचाई, उसने सुख-सुविधा पाने के लिए अपने अपमान को पी लिया.

महिला विधायक ने कहा, ''उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री न महिला लगती हैं और जेंट्स लगती हैं. इनको तो अपना सम्मान ही समझ नहीं आता. जिस महिला का चीरहरण हुआ, जिसका सबकुछ लुट गया उसके बाद भी कुर्सीं पाने के लिए अपने सारे सम्मान को बेच दिया. ऐसी महिला मायवती जी का हम इस कार्यक्रम के माध्यम से तिरस्कार करते हैं. वह महिला नारी जाति पर कलंक है. जिस महिला (मायावती) की आबरू भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने लुटते-लुटते बचाई, उस महिला ने सुख-सुविधा और अपने वर्चस्व को बचाने के लिए अपने अपमान को पी लिया. जिस महिला के ब्लाउज, पेटीकोट और साड़ी फट जाए, अगर वह सत्ता के लिए आगे आती है तो उसको पूरे देश की महिलाएं कलंकित मानती हैं..वो न तो नर है और न महिला...वह तो किन्नर से भी ज्यादा बदतर है.''

यह भी पढ़ें: 'मैंने देशहित की खातिर गेस्ट हाउस कांड को भुला दिया', पढ़ें मायावती की प्रेस कांफ्रेंस की मुख्य बातें
मुगलसराय विधायक की आपत्तिजनक बयानबाजी पर बसपा ने तुरंत पलटवार किया है. पार्टी के नेता सतीशचंद्र मिश्रा ने कहा, ''साधना सिंह का बयान बीजेपी के स्तर को प्रदर्शित करता है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन के बाद बीजेपी नेताओं को दिमागी संतुलन गड़बड़ा गया है और उन्हें आगरा या बरेली के मेंटल हॉस्पिटल (मानसिक अस्पताल) में भर्ती करा देना चाहिए.'' 

इसको लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी अपना बयान जारी किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है, ''मुगलसराय से भाजपा की महिला विधायक ने जिस तरह के आपत्तिजनक अपशब्द सुश्री मायावती जी के लिए प्रयोग किए हैं वे घोर निंदनीय हैं. ये भाजपा के नैतिक दिवालियापन और हताशा का प्रतीक है. ये देश की महिलाओं का भी अपमान है.''

क्या बसपा सुप्रीमो मायावती के भतीजे पहनते हैं 70000 रुपए के जूते? जानिए पूरा सच
बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में आगामी लोकसभा चुनाव में साथ लड़ने की घोषणा की है. सपा-बसपा राज्य की 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 सीटों पर लड़ेंगी. दोनों पार्टियां अमेठी व रायबरेली समेत दो और सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं खड़े करेंगी. कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखा गया है.