close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यूपी STF को मिली बड़ी सफलता, करोड़ों के मादक पदार्थ के साथ दो को किया गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि गांजा ट्रक में लदे कोयले के नीचे छिपा कर रखी गई 37 प्लास्टिक की बोरियों में था,

यूपी STF को मिली बड़ी सफलता, करोड़ों के मादक पदार्थ के साथ दो को किया गिरफ्तार
पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्त मोहम्मद वसीम ने बताया कि यह माल गुड्डु सिंह के माध्यम से आजमगढ़ निवासी कृष्णा सिंह ने मंगवाया है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स ने गुरुवार को आजमगढ़ में उड़ीसा राज्य से मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की. गिरफ्तार तस्करों के पास से मौके पर बारह क्विंटल साठ किलो गांजा भी बरामद हुआ. इसका अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में अनुमानित मूल्य लगभग तीन करोड़ पचास लाख रूपये है. गिरफ्तार हुए दोनों अभियुक्त कलामुद्दीन और वसीम प्रतापगढ़ के रहने वाले है.

काफी दिनों से उत्तर प्रदेश एसटीएफ उत्तर भारत के राज्यों से अवैध मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले गिरोहों के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए अभियान चला रही है. इसी के चलते एसटीएफ को सूचना मिली कि मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले गिरोह के 2 सदस्यों द्वारा अवैध मादक पदार्थ उड़ीसा से लाया जा रहा है. जिसे आजमगढ़ के आस-पास के जिलों में बेचा जाएगा. जानकारी पर एसटीएफ की टीम ने  नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, लखनऊ को साथ लेकर संयुक्त रूप से कार्यवाही की. इस दौरान थाना रानी सरायपर करीब 5 बजकर 40 मिनट पर एक ट्रक को रोका गया. तलाशी लेने पर और ट्रक के चालक और हेल्पर से कड़ाई से पूछताछ करने पर ट्रक में लदे कोयले के नीचे गांजा बरामद किया गया. 

पुलिस ने बताया कि गांजा ट्रक में लदे कोयले के नीचे छिपा कर रखी गई 37 प्लास्टिक की बोरियों में था, जिसे बरामद किया गया है. पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्त मोहम्मद वसीम ने बताया कि यह माल गुड्डु सिंह के माध्यम से आजमगढ़ निवासी कृष्णा सिंह ने मंगवाया है. यह माल आरोपी उड़ीसा से झारखंड व बिहार होते हुए उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कृष्णा सिंह व गुड्डू सिंह के बताये ठिकानों पर पहुंचाते हैं. जिसका प्रत्येक चक्कर का 50 हजार रुपये मिलता है. अभियुक्त कलामुद्दीन ने बताया कि तस्करी में इस्तेमाल किया गया ट्रक उसी का है. फिलहाल गिरफ्तार हुए अभियुक्तों के विरूद्ध एनसीबी लखनऊ द्वारा मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.