सोलर चरखे से बनी खादी को मान्यता देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्यः पचौरी

खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने बताया, विभाग का हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के साथ एक समझौता हुआ है, जिसके तहत घर की महिलाएं खादी तैयार करेंगी और यह संस्थान पूरे उत्तर प्रदेश में उनके उत्पाद खरीद लेगा. 

सोलर चरखे से बनी खादी को मान्यता देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्यः पचौरी
फाइल फोटो

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि देश विदेश में खादी की मांग 40 प्रतिशत तक बढ़ी है और अब लोग गुणवत्ता युक्त खादी चाहते हैं, जिसके लिए हम सोलर चरखे से खादी बनवा रहे हैं. मंत्री ने कहा कि सोलर चरखे से बनी खादी को हमने खादी की मान्यता दे दी है. उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है जिसने सोलर चरखे से बनने वाली खादी को खादी की मान्यता दी है और सरकार सोलर चरखे से बनी खादी पर छूट दे रही है. 

कुम्भ मेला क्षेत्र के सेक्टर 1 में राष्ट्रीय खादी ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद पचौरी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सरकार प्रदेश में खादी के मॉल भी खुलवाएगी जहां खादी के सभी उत्पाद छूट पर लोगों को उपलब्ध होंगे. एक-दो मॉल लखनऊ में खुलने जा रहा है और प्रदेश में कई जगहों पर खादी मॉल खोले जाएंगे.

मंत्री ने बताया कि खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्रालय ने एक माटी कला बोर्ड बनाया है जो कुम्हारों को निःशुल्क चाक दे रहा है और उनके उत्पादों को खादी के शोरूमों के जरिए बेचा जाएगा. सरकार खादी उत्पादों पर वर्तमान में 20 प्रतिशत की छूट उपलब्ध करा रही है और अगले वित्त वर्ष में इसे बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने की योजना है.

पचौरी ने बताया, विभाग का हरित खादी ग्रामोदय संस्थान के साथ एक समझौता हुआ है, जिसके तहत घर की महिलाएं खादी तैयार करेंगी और यह संस्थान पूरे उत्तर प्रदेश में उनके उत्पाद खरीद लेगा. संस्थान उन्हें कच्चा माल भी उपलब्ध कराएगा और उनकी मजदूरी भी देगा. मंत्री ने कहा कि खादी में जो भी गड़बड़ियां थीं, वह हमने समाप्त कर दी है और हर जगह भ्रष्टाचार पर ताले लगा दिए हैं.