रंग ला रही CM योगी की मेहनत, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में उत्तर प्रदेश देश में दूसरे नंबर पर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश ने ''ईज ऑफ डूइंग बिजनेस'' यानी कारोबार में सहूलियत के मामले शानदार प्रदर्शन करते हुए देश में दूसरा स्थान हासिल किया है.

रंग ला रही CM योगी की मेहनत, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में उत्तर प्रदेश देश में दूसरे नंबर पर
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो)

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश ने ''ईज ऑफ डूइंग बिजनेस'' यानी कारोबार में सहूलियत के मामले में शानदार प्रदर्शन करते हुए देश में दूसरा स्थान हासिल किया है. केंद्र सरकार की ओर से हर वर्ष जारी की जाने वाली इस रैंकिंग का उद्देश्य घरेलू और वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कारोबारी माहौल में सुधार लाने के लिए राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा शुरू करना है. राज्यों की रैंकिंग को कंस्ट्रक्शन परमिट, श्रम कानून, पर्यावरण पंजीकरण, इन्फॉर्मेशन तक पहुंच, जमीन की उपलब्धता और सिंगल विंडो सिस्टम जैसे सौ सूचकांकों पर मापते हैं.

यूपी एक साल में 12वें से दूसरे स्थान पर
सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लिए ईज ऑफ डूइंग रैंकिंग को बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान (Business Reform Action Plan) के तहत डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड (DPIIT) द्वारा तैयार किया जाता है. आखिरी बार यह रैंकिंग जुलाई 2018 में जारी की गई थी. इस रैंकिंग चार्ट में टॉप पर आंध्र प्रदेश था. वहीं तेलंगाना और हरियाणा क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर थे. शनिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने वर्ष 2019 के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग जारी की. इसके मुताबिक कोराबारी सुगमता के मामले में आंध्र प्रदेश देश में पहले और उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर है. तेंलगाना तीसरे स्थान पर है.

'ड्रैगन' को लेकर योगी सरकार का कड़ा फैसला, सरकारी प्रोजेक्ट में सीधे टेंडर नहीं डाल पाएंगी चीनी कंपनियां

यूपी में सिर्फ 72 घंटे में मिलेगी एनओसी
उत्तर प्रदेश पिछले वर्ष इस रैंकिंग में 12वें पायदान पर था. सिर्फ 1 वर्ष के अंदर ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में प्रदेश द्वारा दस पायदान की छलांग लगाने के पीछे निश्चित रूप से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कड़ी मेहनत है. यूपी सरकार ने बीते एक वर्ष के दौरान राज्य में उद्योग स्थापित करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए कई नई नीतियों की घोषणा की है, साथ ही नियम-कायदों को आसान बनाया है. हाल ही में योगी सरकार ने राज्य के लिए नई एमएसएमई (MSME) नीति बनाई है. इसके तहत अब राज्य में उद्योग स्थापित करने के लिए सभी प्रकार की जरूरी एनओसी सिर्फ 72 घंटों के अंदर दे दी जाएगी.

हरियाणा तीसरे से 16वें स्थान पर खिसका
पिछले वर्ष इस रैंकिंग में तीसरे स्थान पर रहने वाला हरियाणा इस बार टॉप टेन में स्थान बनाने में असफल रहा है. वह 13 पायदान नीचे खिसक कर 16वें स्थान पर पहुंच गया है. मध्य प्रदेश की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग इस वर्ष देश में चौथी है. पांचवें स्थान पर झारखंड और छठवें स्थान पर छत्तीसगढ़ है. हिमाचल प्रदेश सातवें, राजस्थान आठवें, पश्चिम बंगाल 9वें और गुजरात 10वें स्थान पर है. इस रैकिंग से पता चलता है कि यूपी की योगी सरकार ने राज्य में व्यापार और उद्योग के लिए काफी बेहतर माहौल तैयार करने में सफलता पाई है. 

WATCH LIVE TV