महंत नरेंद्र गिरी ने मौत से पहले 18 लोगों से की थी बात, आखिरी दिन कॉल लॉग में 35 लोगों के नाम, सभी जांच के दायरे में

पुलिस सभी से संपर्क कर उनका बयान दर्ज करेगी कि महंत ने किससे क्या बात की थी. इसके अलावा उनका कॉल डिटेल्स रिकार्ड भी निकाला गया है. उसकी भी जांच की जा रही है.

महंत नरेंद्र गिरी ने मौत से पहले 18 लोगों से की थी बात, आखिरी दिन कॉल लॉग में 35 लोगों के नाम, सभी जांच के दायरे में
महंत नरेंद्र गिरी (फाइल फोटो)

प्रयागराज: महंत नरेंद्र गिरी की मौत मामले में बड़ी खबर सामने आई है. एसआईटी टीम को नरेंद्र गिरी की कॉल डिटेल की जानकारी मिली है. कॉल डिटेल के अनुसार महंत नरेंद्र गिरि ने 20 सितंबर को अपनी मौत से पहले कई लोगों से बात की थी. उनके डायल नंबर में 35 लोगों के नाम हैं. हालांकि, इनमें से सिर्फ 18 लोगों से ही बात हुई थी. इनमें से कुछ फोन आये और कुछ नंबर डायल किया गया है. जबकि कुछ मिस्ड कॉल में हैं. फोन करने वालों में से हरिद्वार के दो बड़े प्रापर्टी डीलर का भी नाम शामिल हैं.

कॉल डिटेल्स रिकार्ड की हो रही है जांच 
ऐसे में वो सभी लोग अब जांच के दायरे में हैं, जिनसे नरेंद्र गिरी ने आखिरी दिन बात की थी. खासकर दोनों प्रॉपर्टी डीलर. पुलिस सभी से संपर्क कर उनका बयान दर्ज करेगी कि महंत ने किससे क्या बात की थी. इसके अलावा उनका कॉल डिटेल्स रिकार्ड भी निकाला गया है. उसकी भी जांच की जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नरेंद्र गिरि ने लास्ट कॉल सतुआ बाबा को किया था. हालांकि, अभी उनसे क्या बातचीत हुई थी, इस बारे में पता नहीं चल सका है. पुलिस सतुआ बाबा से भी पूछताछ कर सकती है. 

ये भी पढ़ें- Narendra Giri Death Case: सीबीआई ने IPC-306 में दर्ज की एफआइआर, 6 सदस्यीय टीम करेगी जांच

मठ पहुंचकर सीन रिक्रिएशन कराएगी CBI
सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई महंत नरेंद्र गिरी की सामाधि खुदवा कर पार्थिव शरीर देख सकती है. उन्हें कहां और कैसे चोट लगी है. शरीर मे कैसा निशान पड़ा था. खासकर गर्दन के निशान की पड़ताल के लिए सीबीआई पार्थिव शरीर को सामाधि के बाहर निकालकर जांच कर सकती है. गौरतलब है कि शुक्रवार को सीबीआई ने महंत के मामले में केस दर्ज कर मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है. इसके लिए सीबीआई की टीम प्रयागराज भी पहुंची है. इसके साथ ही सीबीआई की टीम बाघंबरी गद्दी मठ पहुंचकर सीन रिक्रिएशन कराएगी. घटना के समय मौजूद रहे आश्रम के कर्मचारियों और सेवादारों से पूछताछ भी करेगी. 

ये भी पढ़ें- गन्ना किसानों को योगी सरकार ने दी बड़ी राहत, घोषणा पत्र भरते समय ID अपलोड करने की अनिवार्यता खत्म

इन लोगों से पूछताछ करेगी सीबीआई 
जानकारी के मुताबिक सीबीआई योग गुरु आनंद गिरी, लेटे हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या प्रसाद तिवारी, आद्या के पुत्र संदीप तिवारी, घटना के बाद दरवाजा खोलकर शव को नीचे उतारने वाले शिष्य सुमित तिवारी, सर्वेश तिवारी और धनंजय, महंत की सुरक्षा में तैनात रहे सिपाही अजय सिंह, आनंद गिरी से समझौता कराने वाले एडिशनल एसपी ओम प्रकाश पांडेय, भाजपा नेता सुशील मिश्रा, सुसाइड नोट में उत्तराधिकारी बनाए गए महंत बलवीर गिरी और घटना होने के बाद सबसे पहले मौके पर पहुंचने वाले अनुराग संत और पुलिस के अधिकारी से भी पूछताछ करेगी. 

ये भी पढ़ें- बहराइच: वृद्धाश्रम में 70 साल के बुजुर्ग ने बजाई ऐसी बांसुरी, धुन सुनकर मंत्रमुग्ध हो गये DM