कोरोना एक बड़ा चैलेंज, लेकिन कुंभ मेले की भव्यता पर नहीं पड़ने देंगे इसका असर: त्रिवेंद्र रावत

आपको बता दें कि कुंभ मेला 14 जनवरी 2021 में हरिद्वार में शुरू हो रहा है. मुख्यमंत्री ने रविवार को कुंभ 2021 की तैयारी के सिलसिले में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक की. 

कोरोना एक बड़ा चैलेंज, लेकिन कुंभ मेले की भव्यता पर नहीं पड़ने देंगे इसका असर: त्रिवेंद्र रावत
हरिद्वार.

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि कोरोना महामारी एक बड़ी परेशानी के रूप में उभरकर सामने आई है, लेकिन 2021 में हरिद्वार में होने वाले कुंभ मेले की भव्यता पर इसका कोई असर नहीं पड़ने दिया जाएगा. आपको बता दें कि कुंभ मेला 14 जनवरी 2021 से हरिद्वार में शुरू हो रहा है. मुख्यमंत्री ने रविवार को कुंभ 2021 की तैयारी के सिलसिले में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक की. इसी बैठक में उन्होंने उपरोक्त बाते कहीं.

COVID प्रबंधन में योगी सरकार की दुनिया में तारीफ, दिल्‍ली-महाराष्‍ट्र-केरल को SC की फटकार

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि कुंभ मेले की तैयारियों का वह कुछ-कुछ समय पर समीक्षा करेंगे. सीएम ने कहा, ''अधिकारियों को कुंभ मेला के तैयारियों की लगातार मॉनिटरिंग करने का दिशा निर्देश है. मुख्य सचिव से सभी कार्यों की समीक्षा कर 15 दिन के अंदर स्टेटस रिपोर्ट देने के लिए कहा है. वहीं कुंभ मेला के सफल आयोजन का काम देख रहे हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि वर्क प्रोग्रेस ट्रैक पर है, 15 दिसंबर तक सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी.''

कानपुर लव जेहाद केस में SIT की जांच पूरी, पहचान छिपाकर आरोपी खेलते थे 'प्यार का खेल'

दीपक रावत ने कहा, ''सभी नौ घाटों, आठ पुलों और सड़कों का कार्य पूरा हो चुका है. स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखा जा रहा है. पेयजल, पार्किंग और अतिक्रमण हटाने संबंधी कार्य भी ट्रैक पर चल रहे हैं.'' उत्तराखंड के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि कुंभ मेला के दौरान श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े इसके लिए प्लानिंग के साथ तैयारियां की गई हैं. उन्होंने कहा कि कुंभ मेला के दौरान हर रोज गंगा में करीब 30 से 35 लाख श्रद्धालुओं के डुबकी लगाने की उम्मीद है.

WATCH LIVE TV