उत्तराखंडः गन्ने के खेत में जहरीली शराब बनाते थे मौत के सौदागर

जहरीली शराब पीकर रुड़की में अब तक 35 लोगों की थम चुकी हैं सांस

उत्तराखंडः गन्ने के खेत में जहरीली शराब बनाते थे मौत के सौदागर

हरिद्वारः यूपी उत्तराखंड के बॉर्डर के इलाक़े में मौत के सौदागर जहरीली शराब बनाते थे दोनों प्रदेशों की सीमाओं पर अवैध शराब बनाने का कारोबार फूलता फलता रहा लेकिन जिस तरह से 7 और 8 फरवरी को जहरीली शराब पीने से मौत का मामला सामने आया . इससे पुलिस प्रशासन के पैरों तले जमीन खिसक गई. दरअसल दोनों प्रदेश की सीमाओं पर लगातार अवैध शराब बनाने वाले सक्रिय रहे हैं  जम कर  अवैध शराब की तस्करी भी गई ज़ी मीडिया की टीम बिंदु खटक गांव पहुंची. 

इस बात की तफ्तीश की कि अवैध तरीके से शराब कहां से  बनाई जाती है लेकिन अभी तक जो खुलासा हुआ वह काफी चौंकाने वाला था गन्ने के खेत के बीचो बीच में मौत के सौदागर जहरीली शराब बनाते थे और यही से अपने गिरोह का संचालन करते थे . ग्रामीणों की मदद से जब ज़ी मीडिया की टीम उस गन्ने के खेत में पहुंची तो सच्चाई दुनिया के सामने आ सकी या फिर इस तरह से गन्ने के बीच शराब बनाई जाती थी जहां पेस्टिसाइड रासायनिक पदार्थ गुड शीरा, लहान ड्रम और कई तरह के रासायनिक पदार्थ मिले हैं.

कैसी कच्ची शराब जहरीली बन जाती है
जब गुड, शीरा, लहन से नशीली शराब बनाने के लिए तस्कर इसमें यूरिया और ऑक्सीटॉसिन जैसे रासायनिक पदार्थ मिलाते हैं तो इस तरह से यह मिथाइल अल्कोहल बन जाती है और जो किसी भी मनुष्य की शरीर में जाने से रिएक्शन करती है और बताया जाता है कि इससे शरीर के अंदरूनी अंग काम करना बंद कर देते हैं और ऐसे में इस शराब को पीने वाले लोग की मृत्यु तक हो जाती है.

फिलहाल यूपी और उत्तराखंड के क्षेत्र में जिन लोगों ने शराब पी उनकी सबसे बड़ी स्थिति यह हुई कि उनकी आंखों से देखना बंद हो गया . साथ में उनके पेट में काफी तेज दर्द हुआ जिससे उन ज्यादातर लोगों को भर्ती कराया गया. लेकिन बहुत सारे लोगों की मृत्यु हो गई


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लिया बड़ा एक्शन
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जहरीली शराब कांड के मामले में बड़ा एक्शन लिया है उन्होंने आईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एक एसआईटी टीम का गठन किया है साथ ही उन्होंने विधानसभा के बजट सत्र के दौरान एक विधेयक लाने की भी बात कही है. उनका कहना है कि जिस तरह से मासूम बच्चों के साथ होने वाले अपराध के बारे में एक सख्त कानून बनाया गया है उसी की तर्ज पर एक नए कानून बनाया जाएगा जो अवैध शराब तस्करी और जहरीली शराब बनाने वालों के खिलाफ होगा.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक भी दावा किया है कि एक ऐसे आयोग का गठन किया जाएगा जो शराब की तस्करी या शराब से जुड़े मामले की मॉनिटरिंग करेगा और इस पूरे मामले की सुनवाई भी करेगा इस तरह से ट्रिपल एक्शन लेने का सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ऐलान किया है.

हरिद्वार एसएसपी जन्मेजय खंडूरी का दावा जल्द होगा बड़ा खुलासा
हरिद्वार पुलिस प्रशासन लगातार जगह-जगह छापेमारी की कार्रवाई कर रही है जिससे अवैध शराब तस्करी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सके और उनकी धरपकड़ हो सके जन्मेजय खंडूरी हरिद्वार ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया.

गिरफ्तार आरोपियों से लगातार पूछताछ की जा रही है जिससे इसके सरगना की गिरफ्तारी हो सके उन्होंने कहा जल्द इस बात का खुलासा हो जाएगा कि शराब तस्करी का मुख आरोपी कौन है और किस तरह से शराब की अवैध तस्करी होती थी

विधानसभा में गूंजी जहरीले शराब कांड की आवाज
विधानसभा में भी जहरीली शराब कांड को लेकर विपक्षी पार्टियों ने हंगामा किया .आज विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत के पहले राज्यपाल अभिभाषण अभिभाषण के दौरान ही विपक्षी विधायकों ने हंगामा करते हुए वकआउट कर दिया नेता प्रतिपक्ष ने जहां सरकार पर इस पूरे मामले में लापरवाही का आरोप लगाया .

वही शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक का कहना है कि सरकार गंभीरता के साथ ही इस पूरे मामले की तहकीकात कर रही है और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है.