close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गैरसैंण में भूमि बिक्री पर लगी रोक हटी, कांग्रेस ने किया कई जगहों पर प्रदर्शन

गैरसैंण पहाड़ के लोगों की भावनाओं से जुड़ा हुआ मसला है. जिसे सभी राजनैतिक दल मौके मौके पर भुनाते रहे हैं. 

गैरसैंण में भूमि बिक्री पर लगी रोक हटी, कांग्रेस ने किया कई जगहों पर प्रदर्शन
बीते दिनों सरकार ने जैसे ही गैरसैंण में लगी भूमि खरीद पर रोक हटाई तो विपक्ष सक्रिय हो उठा.

देहरादून: गैरसैंण को लेकर उत्तराखंड की सियासत एकबार फिर गरमाने लगी है. एक तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नव गैरसैंण जाकर विरोध दर्ज कराया. वहीं, अब कांग्रेस संगठन ने सरकार के विरोध में पूरे राज्य में पुतला दहन किया. दरसअल, कांग्रेस का ये विरोध सरकार के उस फैसले को लेकर है जिसमें गैरसैंण में भूमि बिक्री पर लगी रोक को हटा लिया गया है.

लोगों की भावनाओं से जुड़ा है गैरसैंण
दरअसल, गैरसैंण पहाड़ के लोगों की भावनाओं से जुड़ा हुआ मसला है. जिसे सभी राजनैतिक दल मौके मौके पर भुनाते रहे हैं. बीते दिनों सरकार ने जैसे ही गैरसैंण में लगी भूमि खरीद पर रोक हटाई तो विपक्ष सक्रिय हो उठा. मौके की नजाकत को भांपते हुए पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत खुद गैरसैंण पहुंच गए. भूमि खरीद पर लगी रोक को हटाने का विरोध कर रहे स्थानीय लोगों के साथ रावत भी भी शामिल हुए. गिरफ्तारी भी दी.

पूरे प्रदेश में किया गया विरोध प्रदर्शन 
कहा जा रहा है कि कांग्रेस संगठन द्वारा जो विरोध किया गया, उसके पीछे हरीश रावत का गैरसैंण पहुंचना अहम कारण है. दरअसल, हरीश रावत इन दिनों बेहद सक्रिय हैं. चर्चा है कि रावत को एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी जा सकती है. अब हरीश रावत गैरसैंण पहुंचे तो संगठन को भी सक्रिय होना पड़ा. आनन-फानन में कार्यक्रम तय किया गया और पूरे प्रदेश में कांग्रेस ने गैरसैंण को मुद्दा बनाते हुए सरकार का पुतना दहन किया.

भू माफिया को मिलेगा लाभ 
गैरसैंण में लोगों का विरोध इस बात पर है कि सरकार ने भूमि खरीद पर लगी रोक हटाने के साथ ही यहां भू माफिया के लिए रास्ते खोल दिए हैं. पहले से वीरान हो रहे पहाड़ को बचाने के लिए कोई ठोस पहल नही की जा रही है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने विकासनगर के डाकपत्थर में पुतला दहन करते हुए विरोध दर्ज कराया तो राजधानी में महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने पुतला दहन किया.