यमुना प्राधिकरण का रिवर फ्रंट मास्टर प्लान 2041 होने वाला है रेडी, 75 गांवों की बदलेगी सूरत
X

यमुना प्राधिकरण का रिवर फ्रंट मास्टर प्लान 2041 होने वाला है रेडी, 75 गांवों की बदलेगी सूरत

यमुना प्राधिकरण के शहर का नया स्वरूप ज्यादा खूबसूरत और प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर होगा. यमुना नदी के किनारे रिवर फ्रंट विकसित कर शहर की सुंदरता को निखारा जाएगा.

यमुना प्राधिकरण का रिवर फ्रंट मास्टर प्लान 2041 होने वाला है रेडी, 75 गांवों की बदलेगी सूरत

गौतमबुद्ध नगर: यमुना विकास प्राधिकरण अब मास्टर प्लान 2021 के बाद मास्टर प्लान 2041 तैयार करा रहा है. यह मास्टर प्लान बनाने के लिए मार्स एसोसिएट (Mars Associate) को चुना गया है. बता दें, मार्स एसोसिएट वह कंपनी है जिसने शिमला, देहरादून और मसूरी का मास्टर प्लान तैयार किया था. गौरतलब है कि नए मास्टर प्लान में गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर के 75 गांवों को शामिल किया जाएगा. शहर में यातायात की समस्या से निपटने का प्रावधान भी होगा. ऐसी व्यवस्था होगी, ताकि भारी यातायात को शहर से होकर गुजरने से बचाया जा सके. वहीं, प्लान में शहर और रेलवे की कनेक्टिविटी का भी प्रावधान होगा.

ये भी देखें: Video: जानें कौन हैं Pankhuri Gidwani, जिन्हें सरकार ने सौंपी है Khadi के प्रचार की जिम्मेदारी

खूबसूरती और प्राकृतिक सुंदरता पर खास ध्यान
यमुना प्राधिकरण के शहर का नया स्वरूप अधिक खूबसूरत और प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर होगा. यमुना नदी के किनारे रिवर फ्रंट विकसित कर शहर की सुंदरता को निखारा जाएगा. नए शहर में अधिकतर सेक्टर मिश्रित भूपयोग के होंगे. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए भी जमीन आरक्षित होगी. मास्टर प्लान 2041 तैयार कराने के लिए प्राधिकरण ने मार्स एसोसिएट का चयन किया है. कंपनी तीन महीने में मास्टर प्लान तैयार कर प्राधिकरण को सौंपेगी.

ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा: Deep Sidhu ने जारी किया लाइव वीडियो, कहा- मुझे समय दीजिए, जांच से भागूंगा नहीं

इन सेक्टर में विकसित होगा रिवर फ्रंट
प्राधिकरण क्षेत्र में मौजूद वॉटर बाडी को संरक्षित करने का प्रयास होगा, ताकि भविष्य में शहर को जल संकट से बचाया जा सके. बता दें, प्राधिकरण क्षेत्र में कई वॉटर बाडी हैं. नोएडा एयरपोर्ट के लिए भी इनको संरक्षित किया गया है. शहर को हरा-भरा रखने पर खास ध्यान होगा. रिवर फ्रंट सेक्टर-24 में कादलपुर, खेरली भाव, सेक्टर 24-ए, 25 और सेक्टर 22-ई के पास विकसित किया जाएगा. साथ ही, सार्वजनिक सुविधाओं और मनोरंजन के लिए पर्याप्त व्यवस्था होगी.

ये भी पढ़ें: UP Weather: इस हफ्ते ठंड कम होने के आसार नहीं, जानें कब मिलेगी ठिठुरन से राहत

यमुना प्राधिकरण का फेज एक राष्ट्रीय राजधानी परिक्षेत्र एनसीआर में शामिल है. एनसीआर का मास्टर प्लान 2041 तैयार हो रहा है. खास बात यह है कि इसमें लॉजिस्टिक हब, वेयरहाउसिंग, आदि गतिविधियों को प्राथमिकता मिलेगी.

WATCH LIVE TV

Trending news