आयुष्मान कार्ड बनवाने से चूक गए हैं तो फिर मिला मौका, जानिए कितने दिनों का मिला समय?
X

आयुष्मान कार्ड बनवाने से चूक गए हैं तो फिर मिला मौका, जानिए कितने दिनों का मिला समय?

24 मार्च तक चलने वाले आयुष्मान पखवाड़े की मियाद को बढ़ा दिया गया है. इस पखवाड़े के तहत लोगों को निशुल्क आयुष्मान कार्ड (Free Ayushman Card) प्रदान किए जा रहे हैं. 

  • 31 मार्च तक बढ़ाया गया आयुष्मान कार्ड अभियान
    गांव और ब्लॉक स्तर पर चलाया जा रहा अभियान
    महीने के अंत तक 20 लाख कार्ड बनाने का लक्ष्य 

Trending Photos

    आयुष्मान कार्ड बनवाने से चूक गए हैं तो फिर मिला मौका, जानिए कितने दिनों का मिला समय?

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में रहने वाले लोगों के लिए अब भी आयुष्मान कार्ड बनवाने का सुनहरा मौका है. 10 मार्च से आयुष्मान पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है. 24 मार्च तक चलने वाले आयुष्मान पखवाड़े की मियाद को बढ़ाकर 31 मार्च किया गया है. इस पखवाड़े के तहत लोगों को निशुल्क आयुष्मान कार्ड (Free Ayushman Card) प्रदान किए जा रहे हैं. 

    योगी सरकार ने वापस लिया शिया वक्फ बोर्ड के प्रशासक की नियुक्ति का फैसला, 20 अप्रैल को चुनाव

    गांव और ब्लॉक स्तर पर आयुष्मान कार्ड अभियान चलाया जा रहा है. इस महीने के आखिर तक 20 लाख कार्ड बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. आयुष्मान कार्ड (Ayushman Card) बनवाने के लिए और समय दिया गया है. अब 31 मार्च को वो लोग कार्ड बनवा सकेंगे जो किसी कारण से अपना कार्ड नहीं बनवा पाए.

    गरीबों का 5 लाख रुपये तक का फ्री इलाज
    आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बीमारी के इलाज के लिए भारत सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की थी. इस योजना के तहत गरीब और मजदूर वर्ग के लोग सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में 5 लाख रुपये तक का इलाज बिल्कुल मुफ्त करवा सकते हैं. इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाती है. आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड देश के हर ग्रामीण और शहरी इलाकों में बनाए जा रहे हैं. इस योजना में सर्जरी, मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट, diagnostic समेत 1350 तरह के इलाज करवाए जा सकते हैं.

    मिलने वाली सुविधाएं

    • लाभार्थी परिवार को हर साल 5 लाख रुपये तक की फ्री मेडिकल सुविधा.
    • गंभीर बीमारियों जैसे ह्दय रोग, किडनी रोग, घुटना प्रत्यारोपण, कैंसर, मोतियाबिंद और सर्जरी इत्यादी की सुविधा
    • केवल भर्ती मरीजों को ही नि:शुल्क उपचार की सुविधा

    मुफ्त में बनवाएं आयुष्मान कार्ड?

    • आयुष्मान कार्ड सूचीबद्ध निजी और सरकारी अस्पतालों में फ्री बनाए जाते हैं.
    • कार्ड बनवाने के लिए पहचान हेतु आधार कार्ड लेकर जाएं.
    • परिवार की पहचान हेतु राशन कार्ड अथवा परिवार रजिस्टर की फोटोकॉपी साथ लेकर जाएं.
    • आप निशुल्क हेल्पलाइन नंबर 180018004444 पर कॉल करके भी आयुष्मान कार्ड योजना से जुड़ी सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं. 
    • आप नजदीकी जन सेवा केंद्र जाकर भी आयुष्मान कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं. 

    आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर सफर करना पड़ेगा जेब पर भारी, इन वाहनों को देना होगा ज्यादा टोल टैक्स

    क्या है गोल्डन कार्ड ?
    आयुष्मान योजना के नियमों के तहत अगर आप इस योजना के लाभार्थी हैं तो आपको नजदीकी जन सेवा केंद्र या फिर जिलाधिकारी कार्यालय जाकर अपना गोल्डन कार्ड डाउनलोड कराना होगा. आधार कार्ड की कॉपी जमा करने पर आपको आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड मिल जाएगा. पहले इस कार्ड के लिए 30 रुपये की फीस थी लेकिन अब ये कार्ड फ्री में लाभार्थियों को मिल रहा है.

    2018 में हुई थी शुरुआत
    मोदी सरकार ने गरीब परिवारों को उचित इलाज देने के इरादे से आयुष्मान भारत योजना की 2018 में शुरुआत की थी. हाल ही में इस योजना को घर-घर पहुंचाने के लिए आयुष्मान आपके द्वार कैंपेन (Ayushman Apke Dwar Campaign) लॉन्च किया गया था जिसने 14 मार्च को नया रिकॉर्ड बना दिया. एक ही दिन में 8 लाख से ज्यादा लोगों ने इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराया.

    UPSSSC Big Decision: जांच में गड़बड़ियां मिलने पर 2018 में हुई ग्राम पंचायत अधिकारी परीक्षा निरस्त

    WATCH LIVE TV

     

    Trending news