close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

करगिल संघर्ष के दौरान वाजपेयी ने नहीं दी थी वायुसेना को LOC पार करने की अनुमति: पूर्व वायु सेना प्रमुख

पूर्व वायु सेना प्रमुख अनिल टिपनीस ने शुक्रवार को पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम में यह बात कही. 

करगिल संघर्ष के दौरान वाजपेयी ने नहीं दी थी वायुसेना को LOC पार करने की अनुमति: पूर्व वायु सेना प्रमुख

नई दिल्ली: पूर्व वायु सेना प्रमुख अनिल टिपनीस ने शुक्रवार को कहा कि करगिल संघर्ष के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी वायु सेना के इस्तेमाल को लेकर अनिच्छुक थे और उन्होंने उसे नियंत्रण रेखा पार करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था.

टिपनीस ने ‘ए प्राइम मिनिस्टर टू रेमेम्बर-मेमोरीज़ ऑफ ए मिलीट्री चीफ’ नामक पुस्तक के विमोचन के मौके पर अपने संबोधन में 1999 के कारगिल संघर्ष के दौरान वाजपेयी के साथ उनकी और तत्कालीन सेना प्रमुख वेद मलिक की हुई बैठक का हवाला देते हुए यह बात कही. यह पुस्तक पूर्व नौसेना प्रमुख सुशील कुमार ने लिखी है.

टिपनीस ने कहा कि वाजपेयी जनरल मलिक से जानना चाहते थे कि क्या थल सेना बिना वायु सेना की मदद के काम कर सकती है. पूर्व वायु सेना प्रमुख ने कहा, ‘इससे पहले मलिक जवाब देते, मैंने कहा कि सेना को इसकी (वायुसेना की) जरूरत है और हम तैयार हैं. प्रधानमंत्री ने कुछ क्षण सोचा और कहा कि कल सुबह शुरुआत करिएगा.' 

उन्होंने नियंत्रण रेखा पार करने के लिए वाजपेयी की अनुमति मांगने के बारे में भी अपनी बात सामने रखी.  उन्होंने कहा, ‘मैंने इतनी दृढ़ आवाज में कभी नहीं देखी था... (वाजपेयी ने कहा) नहीं, हम नियंत्रण रेखा को पार नहीं करेंगे.’  टिपनीस ने कहा कि वायुसेना महज छह घंटे की छोटी सी नोटिस पर अभियान में सेना का साथ देने को तैयार थी.

करगिल टकराव के दौरान नौसेना प्रमुख रहे एडमिरल (सेवानिवृत्त) सुनील कुमार ने कहा कि वाजपेयी ने ‘‘रणनीतिक नुकसान’’ को भारी जीत में बदल दिया.