सूखे से परेशान कर्नाटक सरकार, PM मोदी से मिले कुमारस्वामी, राहत सहायता मांगी

कर्नाटक सरकार ने ज्ञापन सौंपकर रबी मौसम में सूखे से राहत के लिए 2,064.30 करोड़ रुपये देने की मांग की है क्योंकि 11,384.7 करोड़ रुपये की फसल का नुकसान होने का अनुमान है. राज्य सरकार ने 176 तालुका में से 156 तालुका को सूखाग्रस्त घोषित किया है. 

सूखे से परेशान कर्नाटक सरकार, PM मोदी से मिले कुमारस्वामी, राहत सहायता मांगी
बैठक में कुमारस्वामी ने सूखे के प्रभाव को कम करने के लिए उठाए गए सक्रिय कदमों से प्रधानमंत्री को अवगत कराया.

नई दिल्ली: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और रबी फसल के मौसम में सूखे की मार झेल रहे किसानों को राहत देने के लिए 2,064.30 करोड़ रुपये जल्द से जल्द जारी करने की मांग की. एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई है. 

कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री को बताया कि कर्नाटक को इस साल खरीफ फसल के मौसम में भी किसानों को सूखे का सामना करना पड़ा था, लेकिन केंद्र सरकार की ओर से दी गई वित्तीय मदद काफी नहीं है. इस समय रबी की फसल का समय चल रहा है. कर्नाटक 2018-19 फसल वर्ष में खरीफ (गर्मी) और रबी (सर्दियों) दोनों मौसमों में गंभीर सूखे और बाढ़ की चपेट में रहा. 

कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री को बताया कि लगातार बाढ़ और सूखे की वजह से किसान परेशानी में हैं और यह समय उनकी मदद करने का है. बयान में कहा गया है कि कुमारस्वामी ने मोदी से सूखे से राहत के लिए 2,064.30 करोड़ रुपये जारी करने की प्रक्रिया में तेजी लाने का अनुरोध किया है. 

कर्नाटक सरकार ने ज्ञापन सौंपकर रबी मौसम में सूखे से राहत के लिए 2,064.30 करोड़ रुपये देने की मांग की है. क्योंकि 11,384.7 करोड़ रुपये की फसल का नुकसान होने का अनुमान है. राज्य सरकार ने 176 तालुका में से 156 तालुका को सूखाग्रस्त घोषित किया है. 

बैठक में कुमारस्वामी ने सूखे के प्रभाव को कम करने के लिए उठाए गए सक्रिय कदमों से प्रधानमंत्री को अवगत कराया. उन्होंने कहा कि कर्नाटक सरकार ने राज्य आपदा कोष (एसडीआरएफ) से 386 करोड़ रुपये दिए हैं. इसके अलावा मनरेगा योजना के तहत 1.19 करोड़ दिहाड़ी रोजगार सृजित करने के अलावा पेयजल और चारा सुनिश्चित करने को प्राथमिकता दी है.

कुमारस्वामी ने कहा इस साल खरीफ फसल के दौरान सूखों की समस्या से निपटने के लिए केंद्र की ओर से जारी राहत पर्याप्त नहीं थी. केंद्र ने 949.49 करोड़ रुपये जारी किए जबकि राज्य सरकार ने 2,434 करोड़ रुपये जारी करने की मांग की थी. कुमारस्वामी ने कहा कि खरीफ और रबी की फसल के दौरान कुल मिलाकर 32,335 करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है. 

INPUT-BHASHA