आधी रात को कांग्रेसी नेता के घर पहुंच प्रियंका ने चौंकाया, कहा- '2022 की तैयारी शुरू करो'

फतेह मोहम्मद ने बताया कि प्रियंका ने उनसे चुनाव 2019 के लिए सही से काम करने को कहा और साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी करने को कहा. 

आधी रात को कांग्रेसी नेता के घर पहुंच प्रियंका ने चौंकाया, कहा- '2022 की तैयारी शुरू करो'
भारी संख्या में देर रात लोगों ने उनका स्वागत किया.

नई दिल्ली/अमेठी: लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश की लगभग सभी सीटों पर विजय हासिल करने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा ठीक पांच साल बाद अमेठी पहुंची. बुधवार (27 मार्च) को अमेठी दौरे के दौरान देर रात वह अमेठी की गौरीगंज विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक रहे नूर मोहम्मद के बेटे और कद्दावर नेता फतेह मोहम्मद उर्फ फतेह बहादुर के घर पहुंचीं और उनसे मुलाकात की. फतेह मोहम्मद ने बताया कि प्रियंका ने उनसे चुनाव 2019 के लिए सही से काम करने को कहा और साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी करने को कहा. 

 

अमेठी पहुंची यूपी महासचिव प्रियंका गांधी ने मुसाफिरखाना के एएच इंटर कालेज में बूथ वर्कर्स के साथ लगभग 10 घंटे की बैठक की. बैठक के बाद गौरीगंज में कांग्रेसी नेता के घर में उनको लड्डुओं से तौले जाने का कार्यक्रम था. काफी विलंब के बाद रात करीब 12 बजे वह फतेह मोहम्मद के घर पहुंचीं. प्रियंका के स्वागत में खड़े लोगों ने उनसे तराजू के एक पल्ले में बैठने को कहा, तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया और अपनी जगह 
उन्होंने कांग्रेस नेता फतेह मोहम्मद को बिठा दिया और वह मुसकुराने लगी.

Amethi: Priyanka Gandhi Vadra reached the house of Fateh Bahadur at Gauriganj

कांग्रेसी नेता ने प्रियंका गांधी को तौले जाने के लिए एक कुंतल लड्डू मंगाए थे. मीडिया से बात करते हुए फतेह मोहम्मद ने बताया कि प्रियंका गांधी ने खुद उन्हें तौलने के बिठाया और खुद ही हमको तौला. प्रियंका गांधी ने उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 में बेहतर और साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अभी से कड़ी मेहनत करके कांग्रेस को जीताने के लिए बोला है. 

Amethi: Priyanka Gandhi Vadra reached the house of Fateh Bahadur at Gauriganj

आपको बता दें कि गुवांवा गौरीगंज के मूल निवासी फतेह मोहम्मद अल्पसंख्यक समुदाय के बीच अहम भूमिका अदा करते हैं और उनकी गिनती जिले के कद्दावर नेताओं में होती है, लेकिन अपनी उपेक्षा के कारण वह शीर्ष नेतृत्व से काफी समय से नाराज चल रहे थे. प्रियंका का फतेह मोहम्मद के घर जाना इस बात से जोड़कर देखा जा रहा है, कि अब फतेह और कांग्रेस के रिश्ते ठीक हैं.