• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

बाटला हाउस के आतंकियों की मौत पर सोनिया को रोना आ गया, इंस्‍पेक्‍टर की शहादत पर नहीं: अमित शाह

शरणार्थियों के मुद्दे पर अमित शाह ने कहा, ''बांग्‍लादेश से जो शरणार्थी आएं हैं, चाहे वे हिंदू, बौद्ध, सिख, जैन और ईसाई हों, उनके बारे में बीजेपी ने अपने संकल्‍प पत्र में स्‍पष्‍ट संकेत दिए हैं कि उनको नागरिकता दी जाएगी.''

बाटला हाउस के आतंकियों की मौत पर सोनिया को रोना आ गया, इंस्‍पेक्‍टर की शहादत पर नहीं: अमित शाह

कोलकाता: लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के बढ़ते सियासी पारे के बीच बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह बंगाल के दौरे पर हैं. वहां प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्‍होंने कहा, ''बाटला हाउस का जब एनकाउंटर हुआ, सोनिया जी को रोना आ गया, बाटला हाउस के आतंकवादियों के मरने पर, जबकि अपना एक बहादुर पुलिस इंस्‍पेक्‍टर वहां शहीद हो गया, उसकी मृत्‍यु पर रोना नहीं आया. इस पर कांग्रेस को विचार करना चाहिए.''

शरणार्थियों के मुद्दे पर अमित शाह ने कहा, ''बांग्‍लादेश से जो शरणार्थी आएं हैं, चाहे वे हिंदू, बौद्ध, सिख, जैन और ईसाई हों, उनके बारे में बीजेपी ने अपने संकल्‍प पत्र में स्‍पष्‍ट संकेत दिए हैं कि उनको नागरिकता दी जाएगी.'' इस संबंध में उन्‍होंने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल (सीएबी) पहले आएगा, उसके तहत सभी शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान की जाएगी. उसके बाद एनआरसी आएगा. शरणार्थियों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है, केवल घुसपैठियों को इसकी चिंता करनी चाहिए. पहले सीएबी आएगा, उसके बाद एनआरसी आएगा. एनआरसी केवल बंगाल के लिए नहीं आएगा बल्कि पूरे देश के लिए होगा. इसके साथ ही शाह ने कहा कि बंगाल में केवल बीजेपी ही सरस्‍वती पूजा और दुर्गा पूजा आयोजन सम्‍मान के साथ करा सकती है.

पीएम मोदी नहीं लड़ेंगे बंगाल से चुनाव
अमित शाह से जब पूछा गया कि क्‍या पीएम मोदी बंगाल से भी चुनाव लड़ेंगे तो उन्‍होंने कहा कि इस बात की कोई संभावना नहीं हैं. इसके साथ ही जोड़ा कि पीएम मोदी को फिर से जिताने के लिए जनता ने मतदान किया है. दोनों चरणों में 81% से ज्यादा मतदान हुआ है. बंगाल की जनता एक बड़ा परिवर्तन करने जा रही है इसके संकेत साफ़ दिख रहे है .

 

इसके साथ ही कहा कि देश की सुरक्षा कौन कर पायेगा-इसका चुनाव जनता करने जा रही है, आतंकवाद में जीरो टेररिज्म करने के लिए बीजेपी की सरकार बनने जा रही है, वहीं दूसरी ओर  विपक्ष देश की सुरक्षा के लिए बिखरा दिखाई दे रहा है. विपक्ष के लिए देश की सुरक्षा का कोई मापदंड नहीं है. विपक्ष के घोषणा पत्र में देश की सुरक्षा की कोई बात नहीं दिखती.

अमित शाह ने कहा कि हमने पारदर्शी नेतृत्व देने का प्रयास किया है, कठोर फैसले लेने वाला नेतृत्व आज बीजेपी के पास है, विपक्ष के पास ऐसा नेतृत्व किसी के पास नहीं है. इसके साथ ही जोड़ा कि गरीब के कल्याण की गति को हम और आगे बढ़ाएंगे. आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ पर पर एक भी परिवार ऐसा नहीं होगा जिसके घर में बिजली, पानी, स्‍वास्‍थ्‍य की सुविधा न हो. ऐसा एक भी परिवार नहीं बचेगा. सबको ये सुविधाएं हमारी सरकार देगी, इस बात को आगे ले जाने के लिए हम ऐसा रोडमैप तैयार करेंगे.