2014 की भूल को सुधारना चाहता है बिस्मिल्लाह घराना, कहा- 'इस बार PM मोदी के हैं साथ'

शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खान के परिवार ने साल 2014 में नरेंद्र मोदी के लिए प्रस्तावक बनने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था. पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने कहा कि अगर पीएम मोदी इस बार हमें प्रस्तावक बनाते हैं, तो सद्भावना का पैगाम जाएगा. 

2014 की भूल को सुधारना चाहता है बिस्मिल्लाह घराना, कहा- 'इस बार PM मोदी के हैं साथ'
बिस्मिल्लाह खान के परिवार ने कहा कि साल 2014 में हुई भूल को सुधारना चाहते हैं.
Play

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार (25 अप्रैल) को वाराणसी दौरे पर हैं. 26 अप्रैल के नामांकन से पहले वह आज मेगा रोड शो करेंगे. इस बीच एक बार फिर भारत रत्न शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खान के पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने कहा कि वह और उनका परिवार साल 2014 की भूल सुधारेगा. उन्होंने कहा कि साल 2014 में जो हुआ वह बिस्मिल्लाह घराना नहीं दोहराएगा. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में पूरा बिस्मिल्लाह घराना पीएम मोदी के साथ है. 

देना चाहते हैं सद्भावना का पैगाम 
शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खान के पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह ने कहा कि अगर पीएम मोदी हमें प्रस्तावक बनाते हैं, तो सद्भावना का पैगाम जाएगा. उन्होंने कहा साल 2014 में हमने नरेंद्र मोदी के लिए प्रस्तावक बनने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था, लेकिन इस बार हम पीएम मोदी के प्रस्तावक बनना चाहते है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने पांच सालों में बहुत विकास किया है. 

लाइव टीवी

 

कांग्रेस नेताओं पर लगाया आरोप
आपको बता दें कि भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खान के पोते नासिर अब्बास बिस्मिल्लाह पीएम मोदी को खत लिखकर उनके नामांकन में शामिल होने की इच्छा जता चुके हैं. उन्होंने कांग्रेसी नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा था कि 2014 में हमारा ब्रेन वॉश किया गया था.

ये भी पढ़ें: 2014 में कांग्रेस ने किया था मेरे परिवार का ब्रेनवॉश: बिस्मिल्लाह खान के पोते

खत लिखकर जताई थी इच्छा
नासिर ने अपने खत में लिखा है कि पीएम एक बार फिर वाराणसी से नामांकन दाखिल करने वाले है, ऐसे उनकी ख्वाहिश है कि वो नामांकन का हिस्सा बनें. साथ ही नासिर में 2014 में नामांकन का हिस्सा न बनने के लिए कांग्रेस पर दोष मढ़ा है. उन्होंने कहा है कि 2014 में वो नामांकन का हिस्सान नहीं बने क्योंकि कुछ कांग्रेसी नेताओं ने ब्रेन वॉश किया था. नासिर ने खत में यह भी याद दिलाया है कि उन्होंने पीएम मोदी के हाथों बिस्मिल्लाह खान की शहनाई राष्ट्र को समर्पित करवाई थी.