close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नरेंद्र मोदी ले रहे थे प्रधानमंत्री पद की शपथ, मां हीराबेन ने टीवी पर देख यूं बजाईं ताली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां ने अहमदाबाद स्थित अपने घर पर नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह देखा.

नरेंद्र मोदी ले रहे थे प्रधानमंत्री पद की शपथ, मां हीराबेन ने टीवी पर देख यूं बजाईं ताली
बेटे नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेते हुए देखती हुईं मां हीराबेन मोदी.

नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भावन में आयोजित समारोह में मोदी को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस समारोह का सीधा प्रसारण पीएम मोदी की मां हीराबेन मोदी ने घर बैठकर देखा. बेटे के शपथ पूरा करते ही बुजुर्ग मां खुद को ताली बताने से नहीं रोक सकीं.

सामाचार एजेंसी एएनआई की ओर से जारी ट्वीट में जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां ने अहमदाबाद स्थित अपने घर पर नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह देखा. वह गांधीनगर के समीप रायसान गांव में वृंदावन बंगला में अपने छोटे बेटे और प्रधानमंत्री के छोटे भाई पंकज के साथ रहती हैं.

लोकसभा चुनाव में भाजपा को प्रचंड बहुमत दिलाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को अपनी मां हीराबेन से मिले और उनका आशीर्वाद लिया था.

शास्त्रीय संगीत के मूर्धन्य विद्वान पद्मभूषण पंडित छन्नूलाल मिश्र ने गुरुवार को बनारस के सांसद नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले बड़ी बधाई दी. उन्होंने मोदी की मां हीराबेन की तुलना माता कौशल्या की है. मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पंडित छन्नूलाल मिश्र ने मोदी के लिए बधैया गाया.

17 सितंबर 1950 को गुजरात के मेहसाणा जिले के वडनगर में जन्मे मोदी के पिता का नाम दामोदर दास और मां का नाम हीराबेन है. बचपन में मोदी वडनगर स्टेशन पर अपने पिता और भाई किशोर के साथ रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे .

स्कूल के दिनों में मोदी एक्टिंग, वाद-विवाद, नाटकों में भाग लेते और पुरस्कार जीतते थे. वह एनसीसी में भी शामिल हुए. अभिनय का शौक वे 1975 में आपातकाल के दिनों में भी काम आया जब मोदी सरदार का रूप धरकर कई महीने पुलिस को छकाते रहे.

बचपन से ही संघ की तरफ झुकाव रखने वाले मोदी ने 1967 में 17 साल की उम्र में घर छोड़ दिया . अहमदाबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की सदस्यता लेने वाले मोदी बरसों बरस संघ के प्रचारक रहे. 1974 में वह नव-निर्माण आंदोलन में शामिल हुए . पढ़ाई जारी रही और मोदी ने गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति शास्त्र में एमए किया.