लोकसभा चुनाव 2019: जानिए ओवैसी के पास है कितनी संपत्ति, कितने करोड़ का है कर्ज

ओवैसी लोकसभा में लगातार चौथी बार निर्वाचित होने के लिए चुनाव मैदान में उतरे हैं . वे हैदराबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे .

लोकसभा चुनाव 2019: जानिए ओवैसी के पास है कितनी संपत्ति, कितने करोड़ का है कर्ज
फाइल फोटो

हैदराबादः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) एआईएमआईएम के अध्यक्ष असददुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद लोकसभा सीट से उम्मीदवारी के लिए अपना पर्चा भरा है और घोषणा की है कि उनके पास 13 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति है. ओवैसी द्वारा सोमवार को दायर हलफनामे के अनुसार, उनके पास 12 करोड़ रुपये मूल्य की अचल संपत्ति और 1 करोड़ 67 लाख रुपये मूल्य की चल संपत्ति है . इसके अलावा उनपर 9 करोड़ 30 लाख रुपये की देनदारी भी है.

उनके पास 2 लाख रुपये की नकद राशि है . वर्ष 2017-18 के दौरान उनकी आय 10,01,080 रुपये थी . वर्ष 2016-17 में उनकी आय 13,33,250 थी . उनके खिलाफ 5 आपराधिक मामले दर्ज हैं लेकिन एक भी मामले में उन्हें दोषी नहीं ठहराया गया है. ओवैसी लोकसभा में लगातार चौथी बार निर्वाचित होने के लिए चुनाव मैदान में उतरे हैं . वे हैदराबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे .

ओवैसी, विनोद कुमार ने तेलंगाना में नामांकन पत्र दाखिल किया
एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी एवं टीआरएस नेता विनोद कुमार उन प्रत्याशियों में शामिल हैं जिन्होंने तेलंगाना में 11 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सोमवार को अपने नामांकन पत्र दाखिल किए.ओवैसी 2004 से लगातार तीन बार हैदराबाद सीट पर जीत दर्ज कर चुके हैं और चौथी बार अपना चुनावी भाग्य आजमाने जा रहे हैं. विनोद कुमार वर्तमान लोकसभा में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के उप नेता हैं तथा उन्होंने करीमनगर से अपना पर्चा दाखिल किया है. इसी सीट से वह वर्तमान सांसद हैं.

टीआरएस सूत्रों ने बताया कि पार्टी ने अभी तक अपने उम्मीदवार की सूची को हरी झंडी नहीं दी है. किंतु पार्टी अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव ने उन्हें इस सीट के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का निर्देश दिया है.

सत्तारूढ़ दल ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह विनोद की उम्मीदवारी को समर्थन देंगे. ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलमीन की इस मुस्लिम बहुल सीट पर मजबूत स्थिति मानी जाती है. हैदराबाद से बीजेपी एवं कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की अभी तक घोषणा नहीं की है. तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस समिति ने पहले हैदराबाद सीट से मोहम्मद अजहरूद्दीन को उतारने के लिए पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व को सिफारिश भेजी थी. किंतु पार्टी सूत्रों के अनुसार पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान इसके लिए राजी नहीं हुए.

टीआरएस एवं एआईएमआईएम के बीच तेलंगाना में लोकसभा चुनाव आपसी तालमेल के साथ लड़ने को लेकर समझ बनी है. टीआरएसएस सूत्रों के अनुसार ओवैसी टीआरएस प्रत्याशियों के लिए प्रचार करेंगे. ओवैसी ने अपना पर्चा दाखिल करने के बाद ट्वीट किया, ‘‘हैदराबाद संसदीय निर्वाचन क्षेत्र भारत के वंचित, दमित और कमजोर तबके की आवाज रहा है. इंशाअल्लाह, यह आगे भी अपना काम करता रहेगा.’’ पिछले वर्ष दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम आठ सीट पर लड़ी थी जिसमें सात पर वह विजयी हुई. उसने शेष 111 सीटों पर टीआरएस का समर्थन किया था.