'चुनावी रिजल्ट तय करेगा विधायकों और पूर्व विधायकों का कद'- कांग्रेस

जहां पोलिंग बूथ मैनेजमेंट काम नहीं कर पाया है, वहां के कारण विधायक जानते हैं इसलिए विधायकों को पूरा जिम्मा दिया गया है.

'चुनावी रिजल्ट तय करेगा विधायकों और पूर्व विधायकों का कद'- कांग्रेस

(संदीप भम्मरकर)/भोपालः लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव का पूरा जिम्मा विधायकों और पूर्व विधायकों को सौंप दिया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव से संबंधित पोलिंग बूथ मैनेजमेंट का काम विधायकों को दिया है और यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि अगर लोकसभा चुनाव के दौरान उनकी परफोर्मेंस में सुधार आता है तो पार्टी आगे के फैसले उसी आधार पर लेगी. वहीं बीजेपी विधायक आशीष शर्मा का कहना है कि 'विधायकों ने हाल ही में चुनाव लड़ा है, इसलिए वे चुनावी प्रबंधन के बाद मिले रिजल्ट से विधायक ही भलीभांति परिचित है. जहां पोलिंग बूथ मैनेजमेंट काम नहीं कर पाया है, वहां के कारण विधायक जानते हैं इसलिए विधायकों को पूरा जिम्मा दिया गया है. पार्टी ने विधानसभा चुनाव हारने वालों को भी संबंधित विधानसभा क्षेत्र में मॉनीटरिंग का जिम्मा दिया है.'

लोकसभा चुनाव से पहले शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश सरकार को लेकर कही ये बड़ी बात

उन्होंने आगे कहा कि 'लोकसभा चुनाव में अगर उनके विधानसभा क्षेत्र में परफोर्मेंस सुधरेगी तो पार्टी आगे के फैसले उसी आधार पर लेगी.' विधानसभा चुनाव में शिकस्त खा चुके कांग्रेस के पूर्व विधायक रामकिशोर दोगने कहते हैं कि कमलनाथ ने ये जिम्मेदारी देकर चुनाव हारने वाले नेताओं को एक मौका और दिया है. इससे वे खुद को साबित कर सकते हैं. कमलनाथ इन नेताओं के साथ बैठक में भी ये साफ कह रहे हैं कि लोकसभा चुनाव के बाद नेताओं को जवाबदारी देने से पहले देखा जाएगा कि उनके पोलिंग बूथ पर कांग्रेस जीती है या नहीं.'

दिग्विजय को लगता है कि आतंक के पक्ष में बोलने पर भारत का मुसलमान खुश होगा: उमा भारती

कांग्रेस के पूर्व विधायक रामकिशोर दोगने ने आगे कहा कि 'साथ ही संबंधित विधानसभा क्षेत्र, शहर, गांव के चुनावी रिजल्ट भी नेताओं का भविष्य तय करेंगे. कमलनाथ ने कहा है कि नेता कितना प्रभावशाली और बड़ा है ये चुनावी रिजल्ट से तय किया जाएगा.' बता दें मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केवल कांग्रेस विधायकों को ही नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के विधायकों पर भी भरोसा जताया है और उन्हें पोलिंग बूथ की जिम्मेदारी सौंपी है और मॉनीटरिंग का दारोमदार दिया है.