रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट: बाहरी उम्मीदवारों पर लगा है दांव, बीजेपी को मिलेगी कड़ी टक्कर

रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट उत्तर प्रदेश में बीजेपी के सहयोगी अपना दल (अनुप्रिया पटेल गुट) के खाते में गई है. अनुप्रिया पटेल गुट ने यहां से पकौड़ी लाल कोल को उम्मीदवार बनाया है. 

रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट: बाहरी उम्मीदवारों पर लगा है दांव, बीजेपी को मिलेगी कड़ी टक्कर
रॉबर्ट्सगंज संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होगा.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियासी रण अपने चरम पर है. उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के बाद से रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट पर चुनाव रोमांचक होने के आसार नजर आ रहे हैं. सपा-बसपा गठबंधन के साथ अपना दल (कृष्णा पटेल गुट) के आने के बाद यह सीट सपा कृष्णा पटेल गुट के अपना दल के कोटे में गई है. वहीं, चंदौली लोकसभा सीट से वर्तमान में मौजूदा सांसद छोटेलाल खरवार हैं. इस बार बीजेपी ने छोटेलाल का टिकट काट दिया है.

दरअसल, रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट उत्तर प्रदेश में बीजेपी के सहयोगी अपना दल (अनुप्रिया पटेल गुट) के खाते में गई है. अनुप्रिया पटेल गुट ने यहां से पकौड़ी लाल कोल को उम्मीदवार बनाया है. वहीं, महागठबंधन की ओर से भाईलाल कोल को प्रत्याशी बनाया गया है. कांग्रेस ने रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट के लिए भगवती चौधरी के नाम पर मुहर लगाई है. बीजेपी ने इस सीट पर पहली बार 1989 में अपना खाता खोला था. वहीं, 1962 से 1971 तक कांग्रेस के राम स्वरुप और 1996 से 1999 तक बीजेपी के रामशकल ने इस सीट से जीत की हैट्रिक लगाई थी.

5 विधानसभा सीटों पर ऐसा है गणित 
रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट के अंतर्गत चकिया, घोरावाल, रॉबर्ट्सगंज, ओबरा और दुद्धी विधानसभा सीटें आती हैं. इनमें से चार विधानसभा सीटों पर बीजेपी और एक विधानसभा सीट पर अनुप्रिया पटेल गुट के अपना दल (सोनेलाल) का कब्जा है. गठबंधन के बावजूद गाजीपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी को कोई बड़ा खतरा नजर नहीं आ रहा है. लेकिन गठबंधन राह में एक बड़ी चुनौती पेश कर सकता है. 

2014 में ये रहा था जनादेश
2014 में हुए आम चुनाव में रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट से बीजेपी के प्रत्याशी छोटेलाल खरवार ने जीत दर्ज की थी. छोटेलाल खरवार ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बसपा के प्रत्याशी शारदा प्रसाद को 1,90,486 वोटों के अंतर से हराया था. बीजेपी प्रत्याशी छोटेलाल को 3,78,211 वोट मिले थे. वहीं, दूसरे स्थान पर रहे शारदा प्रसाद को 1,87,725 वोट मिले थे. वहीं, 1,35,966 वोटों के साथ सपा के पकौड़ी लाल कोल तीसरे स्थान पर रहे थे. 

सातवें चरण में होगा मतदान
रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट पर अबतक 15 बार चुनाव हो चुके हैं. इस सीट से कांग्रेस और बीजेपी दोनों को ही 5-5 बार जीत हासिल हुई है. वहीं, जनता पार्टी, जनता दल और सपा ने एक-एक बार जीत दर्ज की है. बसपा ने दो बार इस सीट पर अपना परचम लहराया है. रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट पर मतदाताओं की कुल संख्या 16,39,074 है. इनमें से 9,01,147 पुरुष मतदाता और 7,37,885 महिला मतदाता हैं. रॉबर्ट्सगंज संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होगा.