close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: शिवसेना ने जारी की 21 प्रत्याशियों की लिस्ट, जानिए किसे, कहां से मिला टिकट

इस लिस्ट में दक्षिण मुंबई से अरविंद सांवत को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. जबकि शिर्डी लोकसभा सीट से सदाशिव लोखंडे को टिकट दिया गया है.

लोकसभा चुनाव 2019: शिवसेना ने जारी की 21 प्रत्याशियों की लिस्ट, जानिए किसे, कहां से मिला टिकट
फाइल फोटो

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों की तारीख जितनी नजदीक आ रही है, उतनी ही तेजी से पार्टियां अपने प्रचार और उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर रही है. बीजेपी की 182 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के बाद शिवसेना ने अपने 21 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. इस लिस्ट में दक्षिण मुंबई से अरविंद सांवत को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. जबकि शिर्डी लोकसभा सीट से सदाशिव लोखंडे को टिकट दिया गया है. बता दें कि महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 23 पर शिवसेना और 25 पर बीजेपी ने लड़ने का फैसला किया था. 

किसे कहां से मिला टिकट

1) दक्षिण मुंबई - अरविंद सावंत
2) दक्षिण मध्य मुंबई - राहुल शेवाळे
3) उत्तर पश्चिम - गजानन कीर्तिकर
4) ठाणे - राजन विचारे
5) कल्याण - श्रीकांत शिंदे
6) रायगड - अनंत गिते
7) रत्नागिरी सिंधुदुर्ग - विनायक राऊत
8) कोल्हापूर - संजय मंडलिक
9) हातकणंगले - धैर्यशिल माने
10) नाशिक - हेमंत गोडसे
11) शिर्डी - सदाशिव लोखंडे
12) शिरुर - शिवाजीराव आढळराव-पाटील
13) औरंगाबाद - चंद्रकांत खैरे
14) यवतमाळ-वाशिम - भावना गवळी
15) बुलढाणा - प्रतापराव जाधव
16) रामटेक - कृपाल तुमाने
17) अमरावती- आनंदराव अडसूळ
18) परभणी- संजय जाधव
19) मावळ - श्रीरंग बारणे
20) हिंगोली-हेमंत पाटील
21) उस्मानाबाद-ओमराजे निंबाळकर

कांग्रेस नेता ने थामा बीजेपी का दामन
लोकसभा चुनावों के पहले राकांपा को शुक्रवार को उस समय झटका लगा जब उसकी प्रदेश इकाई की उपाध्यक्ष भारती पवार भाजपा में शामिल हो गयीं. इसके साथ ही कांग्रेस नेता प्रवीण छेड़ा भी सत्तारूढ़ दल में वापस लौट आए. दोनों नेता प्रदेश के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस तथा अन्य पार्टी पदाधिकारियों की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए. 

पवार 2014 के लोकसभा चुनाव में डिंडोरी सीट पर भाजपा के हरिश्चंद्र चव्हाण से हार गयी थीं. छेड़ा बृहन्नमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) में तीन बार पार्षद रह चुके हैं और सात साल पहले वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे. कहा जाता है कि स्थानीय विधायक प्रकाश मेहता के साथ मतभेदों के कारण उन्होंने भाजपा छोड़ी थी. मेहता अभी प्रदेश सरकार में मंत्री हैं.  इस मौके पर फड़णवीस ने कहा कि राज्यसभा सदस्य संजय ककाड़े पार्टी में बने रहेंगे. उनकी टिप्पणी उन खबरों के संदर्भ में हैं जिनमें कहा गया था कि ककाड़े पार्टी से नाराज हैं और वह कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं.