तेलंगाना में बोले PM मोदी, 'एक ओर चौकीदार है, तो दूसरी ओर वंशवाद और भ्रष्टाचार का बोलबाला है'

इससे पहले ओडिशा की रैली में पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने अंतरिक्ष में ‘चौकीदार’ तैनात करने के लिए कदम उठाए हैं .

तेलंगाना में बोले PM मोदी, 'एक ओर चौकीदार है, तो दूसरी ओर वंशवाद और भ्रष्टाचार का बोलबाला है'
फोटो- ट्विटर बीजेपी

महबूबनगरः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के प्रचार में जुटे पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार अपनी दूसरी चुनावी रैली तेलंगाना के महबूबनगर में की. पीएम मोदी ने अपने भाषण में एक बार फिर खुद को चौकीदार बताते हुए कहा कि आपका चौकीदार आपका आशीर्वाद लेने फिर एक बार आपके सामने आया है. पीएम मोदी ने कहा, 'हमने बहुत ईमानदारी और निष्ठा से सरकार चलने का प्रयास किया है, विरोधियों की गाली गलौच के बीच भी आपने मुझे संभाले रखा...मुझे रत्ती भर भी गिरन नहीं दिया.'

प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास के ऐसे अनेक काम इन 60 महीनो में किये गए हैं जो दशकों से अटके और लटके हुए थे. देश की रक्षा और सुरक्षा से लेकर माता और बहनों के लिए बड़े फैसले लेने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी. आप नए भारत के लिए वोट डालेंगे...आज मैं कह सकता हूं दुनिया भारत की बुलंद आवाज को दुनिया सुन रही है, पहचान रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत माता का अपमान करने वालों और संविधान को ताक पर रखकर मुस्लिम आरक्षण की बात करने वालों का ये घालमेल, सिर्फ वोटबैंक की चिंता कर सकता है, तेलंगाना की नहीं. उन्होंने कहा कि आज साफ नजर आ रहा है कि लोगों की सेवा करने वाले लोग, कैसे कांग्रेस को अलविदा कह रहे हैं. घोटालों से घिरी कांग्रेस देश के वीर जवानों पर सवाल उठाती है, सपूत के बजाए सबूत मांगती है तो आप समझ सकते हैं कि कांग्रेस किस स्थिति में पहुंच गई है.

सरकार ने अंतरिक्ष में ‘चौकीदार’ तैनात करने के लिए कदम उठाए हैं: मोदी
इससे पहले ओडिशा की रैली में पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने अंतरिक्ष में ‘चौकीदार’ तैनात करने के लिए कदम उठाए हैं . इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि वे ऐसी सरकार के लिए मतदान करें जो केवल नारेबाजी नहीं करे बल्कि ठोस फैसले कर सके. प्रधानमंत्री ने ओडिशा में कोरापुट जिले के जयपुर इलाके में एक रैली के साथ ही पूर्वी भारत में चुनाव प्रचार मुहिम शुरू करते हुए कहा कि एनडीए सरकार लोगों के समर्थन के बिना देश में कोई विकास कार्य नहीं कर पाती.

उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अपने समर्थकों का आशीर्वाद मांगा और जोर देकर कहा कि एनडीए सरकार ने राज्य में विकास करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी. मोदी ने कहा, “एनडीए सरकार राज्य में सड़क और रेल का आधारभूत ढांचा तैयार करने के लिये कड़ी मेहनत कर रही है. देश में जब विकास कार्यों की बात आती है तो धन की कोई कमी नहीं है.” उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच साल में सरकार ने आठ लाख परिवारों के लिए मकान बनाए हैं, 3000 घरों में बिजली पहुंचाई है और 40 लाख घरों को गैस कनेक्शन मुहैया कराया है.’’प्रधानमंत्री ने ‘मिशन शक्ति’ का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार ने अंतरिक्ष में ‘चौकीदार’ तैनात करने के लिए कदम उठाए हैं. 

‘मिशन शक्ति’ के तहत भारत ने एक लाइव सैटेलाइट पर निशाना लगाकर अपनी उपग्रह भेदी मिसाइल क्षमता का प्रदर्शन किया.प्रधानमंत्री ने अंतरिक्ष के क्षेत्र की इस उपलब्धि को ‘‘कम आंकने’’ वाले विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘जो लोग उपग्रह भेदी तकनीक की आलोचना कर रहे हैं, उन्हें चुनाव में उचित जवाब दिया जाएगा.’’ 

उन्होंने लोगों से अपील की कि वे ऐसी सरकार के लिए मतदान करें जो केवल नारेबाजी करने के बजाए ठोस निर्णय ले सके.बालाकोट में पिछले महीने वायुसेना द्वारा की गई हवाई कार्रवाई के संदर्भ में प्रधानमंत्री ने कहा कि यह दुखद है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान में आतंकी शिविरों पर वायुसेना द्वारा की गई प्रतिरोधी कार्रवाई पर विपक्षी दल सबूत मांग रहे थे. 

दक्षिण ओडिशा के इस शहर में जनसभा में शामिल होने आए लोगों से मोदी ने पूछा, “क्या हमें यह बर्दाश्त करना चाहिए? क्या हमें उन्हें अपने वैज्ञानिकों और रक्षा बलों के अपमान के लिये सजा नहीं देनी चाहिए.” मोदी ने जोर दिया कि ओडिशा में अगर आने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा सत्ता में आई तो विकास कार्य में और तेजी आएगी. 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “ओडिशा में प्राकृतिक संसाधन की प्रचुरता है लेकिन लोग गरीब हैं. यह साबित करता है कि ओडिशा में एक के बाद एक सरकारें विकास में विफल रहीं. बीजद सरकार ने भी ओडिशा के लोगों को आयुष्मान भारत योजना के फायदे से दूर रखा. इससे गरीब गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य देखभाल के अधिकार से वंचित हो गया.” 

मोदी ने कहा, “केंद्र और राज्य में भाजपा की दोहरे इंजन वाली सरकार से यहां प्रदेश के लोगों को फायदा होगा. ओडिशा तभी मजबूत होगा जब जनजातियों, किसानों और युवाओं के पास यहां आय के समुचित साधन होंगे.” ओडिशा की बीजद सरकार पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में सत्ताधारी दल कई विवादों में फंसा हुआ है. 

उन्होंने पूछा, “क्या चिटफंड योजनाओं में शामिल लोग ओडिशा को मजबूत बना सकते हैं? पिछले सात दशकों में, राज्य सरकारों ने प्रदेश में गरीबी हटाने के लिये क्या किया?”  मोदी ने कहा, “यह कांग्रेस और बीजद को सजा देने का सही वक्त है, जिनके पास क्षेत्र के विकास के लिये पर्याप्त समय था, लेकिन उन्होंने कुछ भी उल्लेखनीय नहीं किया. वे बुरी तरह विफल रहीं.” राज्य में लोकसभा की 21 और विधानसभा की 147 विधानसभा सीटों के लिये चार चरणों में 11, 18, 23 और 29 अप्रैल को चुनाव होंगे.

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)