`भंसाली की पूर्णतावाद से रामलीला में हुई मुश्किल`

`रामलीला` में फिल्मकार संजय लीला भंसाली के साथ पहली बार काम करने वालीं अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कहती हैं कि फिल्म बहुत मुश्किल रही।

मुंबई : `रामलीला` में फिल्मकार संजय लीला भंसाली के साथ पहली बार काम करने वालीं अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कहती हैं कि फिल्म बहुत मुश्किल रही। दीपिका ने कहा कि भंसाली इतने पूर्णतावादी हैं कि वह उनके मन में जो भी है, उसमें कुछ भी कम नहीं करते। भंसाली की `हम दिल दे चुके सनम` और `देवदास` जैसी फिल्में काफी सफल रहीं लेकिन दूसरी ओर `सांवरिया` और `गुजारिश` जैसी फिल्में दर्शकों को रिझाने में नाकाम रहीं। निर्माता-निर्देशक भंसाली अब रणबीर सिंह और दीपिका के साथ `रामलीला` लेकर आ रहे हैं।
इस फिल्म पर एक साल से ज्यादा समय तक काम करने वाली 28 वर्षीया दीपिका ने एक साक्षात्कार में कहा कि यह सरल नहीं था क्योंकि वास्तव में यह मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक मांग वाली फिल्म है। उन्होंने आगे कहा कि बात यह है कि भंसाली पूर्णतावादी हैं वह कुछ भी नहीं छोड़ते। वह चीजों को एक नजरिए से देखते हैं जिससे चीजें घटती या बढ़ती हैं।
दीपिका आगे कहती हैं कि उनके पास एक नजरिया है और हर कोई उसी के अनुसार काम करता है। जाहिर है कि यह सफर मुश्किल रहा। यह उत्साही और चुनौतीपूर्ण था और थोड़ा मुश्किल भी हो गया था। इन सभी को एक साथ देखकर मैं थोड़ी भावुक हो गई थी।
गुजरात के एक देहाती क्षेत्र की पृष्ठभूमि पर बनी `रामलीला` में ऋचा चढ्ढा, गुलशन देवैह और सुप्रिया पाठक भी नजर आएंगे। (एजेंसी)