कलाकारों ने पीएम पद के लिए मोदी का किया समर्थन

बॉलीवुड समेत विभिन्न क्षेत्रों के कलाकारों के समूह ने सोमवार को प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी का पूरजोर समर्थन करते हुए कहा कि उन्होंने सफलतापूर्वक सरकार चलाने की क्षमता साबित की है।

नई दिल्ली : बॉलीवुड समेत विभिन्न क्षेत्रों के कलाकारों के समूह ने सोमवार को प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी का पूरजोर समर्थन करते हुए कहा कि उन्होंने सफलतापूर्वक सरकार चलाने की क्षमता साबित की है।
जानी मानी नृत्यांगला सोनल मानसिंह, गायक अनूप जलोटा और रिचा शर्मा ने संवाददाता सम्मेलन करके प्रधानमंत्री पद के लिए मोदी का समर्थन किया। इन्होंने कहा कि बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक मधुर भंडारकर चाहते थे कि उनके समर्थन की बात कही जाए हालांकि वह खुद इसमें नहीं आ सके।
इस बारे में पूछे जाने पर कारपोरेट, फैशन जैसी फिल्मों के निर्देशक भंडारकर ने कहा कि वह इसमें शामिल नहीं हो सके लेकिन वह मोदी का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम समझते हैं कि मोदी ने सफलतापूर्वक सरकार चलाने की अपनी क्षमता साबित की है.. हमे तहे दिल से प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी का समर्थन करते हैं और लोगों से मोदीजी को वोट देने की अपील करते हैं।’’
प्रसिद्ध भजन गायक अनुप जलोटा ने कहा, ‘‘मोदीजी ने वाराणसी को देश की सांस्कृतिक राजधानी बनाने का निर्णय किया है। वाराणसी को सांस्कृतिक राजधानी बनना चाहिए।’’ इस संदर्भ में जलोटा ने पंडित रविशंकर, उस्ताद बिस्मिल्ला खान और पंडित छन्नू लाल मिश्र के नाम का जिक्र करते हुए उत्तरप्रदेश के इस शहर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का हवाला दिया।
जलोटा ने बताया कि किस तरह से बिस्मिल्ला खान को अंतिम दिनों में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा । उन्होंने कहा, ‘‘भारत रत्न से सम्मानित होने वालों को एक करोड़ रूपये दिया जाना चाहिए।’’ प्रसिद्ध नृत्यांगना सोनल मानसिंह ने कहा कि 2005 में उन्हें ललित कला अकादमी से हटाये जाने के लिए संप्रग सरकार पर निशाना साधा।
उन्होंने कहा, ‘‘मुझे दिसंबर 2003 में ललित कला अकादमी का अध्यक्ष बनाया गया था। मुझे 2005 में संप्रग सरकार ने हटा दिया। पहली बार संस्कृति में राजनीति का हस्तक्षेप हुआ। मोदी भी कवि है, इसलिए वह कलाकारों की पीड़ा समझ सकते हैं।’’ मानसिंह ने कहा कि आज राष्ट्रीय संग्रहालय बर्बाद हो रहा है। (एजेंसी)