पाकिस्तान के पंजाब में हुए फर्जी मुठभेड़ मामले में सीटीडी के प्रमुख बर्खास्त

सीटीडी के अधिकारियों ने रविवार को लाहौर से करीब 200 किमी दूर साहीवाल में एक मुठभेड़ के दौरान आतंकवादी होने के संदेह में एक किशोरी सहित चार व्यक्तियों को मार डाला था

पाकिस्तान के पंजाब में हुए फर्जी मुठभेड़ मामले में सीटीडी के प्रमुख बर्खास्त
गोलीबारी में दंपति और उनकी 13 वर्षीय बेटी की मौत हो गई

नई दिल्ली: पाकिस्तानी प्रशासन ने गोलीबारी के एक मामले की जांच में यह पता चलने के बाद पंजाब के आंतकवाद निरोधक विभाग (सीटीडी) के प्रमुख को मंगलवार को बर्खास्त कर दिया कि एक राजमार्ग पर फर्जी मुठभेड़ में एक परिवार के तीन सदस्य मारे गए. पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान मौजूद सीटीडी के पांच अधिकारियों के खिलाफ आतंकवाद और हत्या के आरोप भी दर्ज किये गए हैं.

पंजाब के विधि मंत्री बशारत रजा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया 'संयुक्त जांच दल की जांच के आधार पर सीटीडी के पंजाब प्रमुख अतिरिक्त महानिरीक्षक राज ताहिर सहित पांच अधिकारियों को बर्खास्त किया गया है. साथ ही मुठभेड़ में शामिल सीटीडी के पांच अधिकारियों के खिलाफ आतंकवाद और हत्या का मामला दर्ज किया गया है'.

सीटीडी के अधिकारियों ने रविवार को लाहौर से करीब 200 किमी दूर साहीवाल में एक मुठभेड़ के दौरान आतंकवादी होने के संदेह में एक किशोरी सहित चार व्यक्तियों को मार डाला था. सीटीडी की टीम ने एक कार पर अंधाधुंध गोलीबारी की. इस कार में एक जोड़ा अपने चार बच्चों और ड्राइवर के साथ था. गोलीबारी में तीन बच्चे बच गए जबकि दंपति और उनकी 13 वर्षीय बेटी की मौत हो गई.

शुरू में सीटीडी ने मृतकों को इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी बताया लेकिन बाद में कहा कि ये लोग आम नागरिक थे. रजा ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद अन्य अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी. उनसे पूछा गया कि यह अभियान आईएसआई के अधिकारियों के नेतृत्व में हुआ. क्या इन अधिकारियों पर कोई कार्रवाई की गई है. इस पर मंत्री ने कहा 'जांच अभी जारी है.'

रजा ने यह भी कहा कि चौथा मृतक जीशान जावेद संदिग्ध आतंकवादी था और सरकार जल्द ही आतंकवादियों से उसके कथित संबंधों के बारे में जानकारी देगी. शनिवार को हुई गोलीबारी की इस घटना की पूरे देश में निंदा हुई और प्रधानमंत्री इमरान खान ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने का संकल्प जताया था.

(इनपुट-भाषा)