India and China Relation: सावधान! दुनिया को ताकत दिखाने के लिए 2023 में भारत पर हमला कर सकता है चीन, ये है वजह
topStories1hindi1463832

India and China Relation: सावधान! दुनिया को ताकत दिखाने के लिए 2023 में भारत पर हमला कर सकता है चीन, ये है वजह

India China Tension: एक्सपर्ट का माना है 2023 भारत के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है. बताया जा रहा है कि अमेरिका से चिढ़ा हुआ चीन अपनी ताकत दिखाने के लिए भारत से युद्ध छेड़ सकता है. आइए जानते हैं क्यों 2023 में भारत और चीन के बीच युद्ध की आशंका ज्यादा है?

India and China Relation: सावधान! दुनिया को ताकत दिखाने के लिए 2023 में भारत पर हमला कर सकता है चीन, ये है वजह

Possibility of War Between India and China in 2023: कोरोना काल के बाद आया 2022 अब तक युद्ध और तनाव वाला साल रहा है. साल के दूसरे महीने यानी फरवरी में जहां रूस ने यूक्रेन पर हमला कर के युद्ध की शुरुआत की तो वहीं इसके बाद अलग-अलग देशों के बीच भी युद्ध के हालात बनते नजर आए. कभी चीन और अमेरिका, कभी चीन ताइवान, तो कभी उत्तरी कोरिया का दक्षिण कोरिया और जापान से तनाव हमारे सामने आया. हर हालात में ऐसा लगता था मानो युद्ध कभी भी शुरू हो जाएगा. एक महीने बाद जब दुनिया नए साल में प्रवेश करेगी तो भी यह खतरा कम होता नहीं दिख रहा. हालांकि एक्सपर्ट का माना है 2023 भारत के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है. बताया जा रहा है कि अमेरिका से चिढ़ा हुआ चीन अपनी ताकत दिखाने के लिए भारत से युद्ध छेड़ सकता है. आइए जानते हैं क्यों 2023 में भारत और चीन के बीच युद्ध की आशंका ज्यादा है?

इसलिए भारत है निशाने पर

चीन इस साल अलग-अलग वजहों से अमेरिका से भिड़ता रहा है. चीन और भारत के बीच युद्ध की कई वजहें हैं और एक्सपर्ट इन्हीं को आधार मानकर यह कह रहे हैं कि 2023 में दोनों के बीच युद्ध हो सकता है. आइए एक-एक कर समझते हैं वह कारण.

1. दोनों देशों के बीच लगातार तनाव

 भारत 1962 में चीन से एक घोषित युद्ध लड़ चुका है. इसके बाद से ही सियाचिन और इससे जुड़ी सीमा पर दोनों देशों के बीच अघोषित युद्ध की स्थिति बरसों से बनी हुई है. इसके अलावा दोनों देशों के बीच समय-समय को लेकर सीवा विवाद और घुसपैठ की वजह से तनातनी की स्थिति बनती रहती है.

2. भारत चीन के लिए सबसे बड़ी चुनौती

एशिया में भारत अभी चीन के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. अर्थव्यवस्था के आकार के मामले में जापान बेशक अभी आगे है, लेकिन भारत जिस रफ्तार से आगे बढ़ रहा है उससे उसके काफी आगे जाने की संभावना दुनिया जताती है. ऐसे में चीन की प्राथमिकता हर मोर्चे पर भारत को रोकने की रहेगी.

3. पूरे एशिया को ताकत दिखाने की हनक

एक्सपर्ट के मुताबिक, चीन का मानना है कि अघर वह सामरिक मोर्चे पर भारत के साथ उलझता है तो उसे इस बहाने से पूरे एशिया को अपनी ताकत दिखाने का मौका मिलेगा. साथ ही उसे ये भी उम्मीद है कि बेशक अमेरिका भारत का दोस्त हो लेकिन युद्ध की स्थिति में वह सीधे तौर पर भारत का साथ नहीं देगा. ऐसे में एक्सपर्ट का कहना है कि आने वाला साल भारत-चीन के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण रहेगा.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news