close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: रौब के दौर में गाड़ी की आगे की सीट पर बैठते थे चिदंबरम, आज यूं दिखे लाचार

पी चिदंबरम (P chidambaram) की गिरफ्तारी के दौरान एक बेहद अजीब स्थिति देखने को मिली. ZEE न्यूज के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने रिपोर्टिंग के दिनों के अनुभव का जिक्र करते हुए बताया कि जब पी चिदंबरम देश के गृह मंत्री और वित्त मंत्री थे तब वह पूरे रौब में दिखते थे. वे हमेशा गाड़ी की आगे की सीट पर बैठते थे, लेकिन बुधवार शाम करीब 10 बजे वह बेहद लाचार दिखे.

VIDEO: रौब के दौर में गाड़ी की आगे की सीट पर बैठते थे चिदंबरम, आज यूं दिखे लाचार
पी चिदंबरम (P chidambaram) को CBI ने किया गिरफ्तार.

नई दिल्ली: INX मीडिया मनी लांड्रिंग मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P chidambaram) को गिरफ्तार कर लिया गया है. बेहद नाटकीय तरीके से चिदंबरम को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया पूरी की गई. सीबीआई की टीम ने पी चिदंबरम (P chidambaram) को उनके जोरबाग स्थित आवास से गिरफ्तार किया. सीबीआई की टीम ने पी चिदंरबम को अपनी कार में बिठाकर दफ्तर ले गई. बताया जा रहा है कि पी चिदंबरम (P chidambaram) को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

इस गिरफ्तारी के दौरान एक बेहद अजीब स्थिति देखने को मिली. ZEE न्यूज के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने रिपोर्टिंग के दिनों के अनुभव का जिक्र करते हुए बताया कि जब पी चिदंबरम (P chidambaram) देश के गृह मंत्री और वित्त मंत्री थे तब वह पूरे रौब में दिखते थे. वे हमेशा गाड़ी की आगे की सीट पर बैठते थे. जब कोई पत्रकार किसी मुद्दे पर उनसे बात करने पहुंचता तो वे ज्यादातर मौकों पर बेहद रौबिले अंदाज में कुछ भी कहने से साफ तौर से इनकार कर देते थे, लेकिन बुधवार शाम करीब 10 बजे वह बेहद लाचार दिखे.

चिदंबरम को जोरबाग स्थित उनके आवास से CBI की टीम उन्हें लेकर निकली तो वह दृष्य देखने लायक था. पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम कार की पीछे की सीट पर बैठे दिखे. उनके दोनों तरफ CBI के दफ्तर बैठे दिखे. कार की आगे की सीट पर भी CBI के अफसर बैठे दिखे. यह दृष्य बता रहा है था कि देश के कानून के सामने सभी बराबर हैं. 

लाइव टीवी देखें-:

पी चिदंबरम (P chidambaram) के गृह मंत्री और वित्त मंत्री रहते हुए CBI और ईडी उनके अंदर काम करती थी. आज इसी विभाग के अफसरों ने उन्हें हिरासत में लिया. 

CBI की टीम दीवार फांदकर अंदर घर में घुसी
करीब 25 घंटे से लापता पी चिदंबरम (P chidambaram)बुधवार शाम करीब आठ बजे अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और प्रेस कांफ्रेंस कर खुद को निर्दोष बताया. चिदंबरम की प्रेस कांफ्रेंस खत्म होते-होते सीबीआई और ईडी की टीम कांग्रेस मुख्यालय पहुंच गई. 

टीम के पहुंचते ही पी चिदंबरम (P chidambaram) कपिल सिब्बल की गाड़ी में बैठकर दिल्ली के जोरबाग स्थित अपने घर पहुंच गए. यहां उन्होंने गार्ड को फटकार लगाई. कैमरे में दिखा कि वह गार्ड को कहते दिखे कि किसी के लिए भी घर का दरवाजा नहीं खोला जाए.

इसके तुरंत बाद सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर पर पहुंच गई. CBI के अफसरों के बार-बार कहने के बाद भी गार्ड ने दरवाजा नहीं खोला. इसके बाद CBI के अफसर दरवाजा फांदकर चिदंबरम के घर में दाखिल हो गए. सीबीआई की टीम के पी चिदंबरम (P chidambaram) के घर में घुसते ही कांग्रेस के कार्यकर्ता वहां पहुंच गए. वे नारेबाजी करने लगे. कार्रवाई में बाधा पहुंचाने से रोकने के लिए सीबीआई की टीम ने दिल्ली पुलिस से मदद मांगी. इसके बाद पी चिदंबरम (P chidambaram) को हिरासत में ले लिया गया.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पी चिदंबरम (P chidambaram) बोले- 'भ्रम फैलाया जा रहा'
इससे पहले कांग्रेस मुख्यालय में पी चिदंबरम (P chidambaram) में ने कहा कि पिछले 24 घंटे में मेरे बारे में बहुत तरह के भ्रम फैलाए गए कि मैं कानून से भाग रहा हूं, जबकि वह कानून से संरक्षण की तैयारी कर रहा था. उन्होंने कहा, 'इस मामले में उनके और परिवार के खिलाफ कोई चार्जशीट नहीं है.' उन्होंने कहा, 'लोकतंत्र की बुनियाद आजादी है, अगर उन्हें जिंदगी और आजादी के बीच में चुनने कहा जाए तो वह आजादी को चुनेंगे.' चिदंबरम के साथ कांग्रेस के दूसरे बड़े नेता और बड़े वकील कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी, सलमान खुर्शीद, गुलाम नबी आजाद आदि बड़े नेता मौजूद दिखे.

चिदंबरम की प्रेस कांफ्रेंस के बाद वरिष्ट कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील सलमान खुर्शीद ने कहा कि पी चिदंबरम (P chidambaram) ने देश की काफी सेवा की है. उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. सीबीआई टीम के कांग्रेस मुख्यालय पहुंचने के सवाल पर सलमान ने कहा कि यहां बहुत सारे लोग आते हैं. यहां किसी के भी आने से मनाही नहीं है.

यहां आपको बता दें कि पी चिदंबरम (P chidambaram)ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने सुनवाई करने से इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई के लिए तारीख तय की है. देश के पूर्व गृह और वित्त मंत्री के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी हो चुका है. जब उन्हें लगा कि अब गिरफ्तारी से बचना उनके लिए मुश्किल है तो वह अचानक से कांग्रेस मुख्यालय पहुंच गए.