अपनी मौजूदगी का अहसास कराते हैं मृत परिजन, ऐसे समझें Souls के इशारे

किसी परिजन (Family Member) की असमय मौत (Death) या उसका अपने परिवार से लगाव उसे यहां से जाने नहीं देता है. यहां तक कि वे कई संकेतों से अपनी मौजूदगी का अहसास भी कराते हैं. उनका मकसद किसी को डराना नहीं होता है. 

अपनी मौजूदगी का अहसास कराते हैं मृत परिजन, ऐसे समझें Souls के इशारे
(प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्‍ली: किसी अपने को खोने को दर्द बहुत बुरा होता है. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) ने कई परिवारों से किसी न किसी सदस्‍य को असमय छीन लिया. किसी का बच्‍चा इस दुनिया से विदा हो गया तो किसी के मां-बाप या भाई-बहन. किसी अपने की मृत्‍यु (Death) के भयावह सच को स्‍वीकारना बहुत मुश्किल होता है. उनकी लगातार सताती याद और उनका सपने (Dreams) में आना भी आम बात है. इसके चलते अक्‍सर ऐसे सवाल दिल-दिमाग में कौंधते हैं कि क्‍या वो हमसे वाकई दूर हो गए हैं या मरने के बाद भी हमारे पास हैं. 

मृत्‍यु के बाद भी ऐसे देते हैं इशारा 

आपने शायद ऐसा सुना होगा कि असमय मृत्‍यु या किसी अपने की चिंता में आत्‍माएं (Souls) भटकती रहती हैं. धर्म-पुराणों आदि में इस बात का जिक्र किया गया है. यहां तक कि वे अपने चहेते लोगों को देख-सुन सकते हैं और अपनी कोई बात भी उन तक पहुंचा सकते हैं. आज हम जानते हैं कि मृत व्‍यक्ति की आत्‍मा अपने परिजन के लिए क्‍या-क्‍या कर सकती है. 

- मृत व्‍यक्ति हमें देख-सुन सकते हैं. वे जान सकते हैं कि उनके परिजन किस हाल में हैं. बल्कि मुश्किल के समय आप उनसे मदद की प्रार्थना भी कर सकते हैं. 

- आत्‍माएं अहसास कराती हैं कि वे हमारे साथ हैं. यही वजह है कि कई बार हमें ऐसा लगता है कि ऐसी कोई आहट हुई है या धीरे से खांसने की आवाज आई है, जो मृत परिजन के वहां होने का अहसास कराती है. 

- यदि किसी मृत परिजन के बारे में आपके मन में अलग ख्‍याल रहे हों और आपने दिखावा अच्‍छाई का किया हो तो बता दें कि मरने के बाद उनकी आत्‍मा से यह बात छिपी नहीं रहती है. इसलिए धर्म-पुराणों में कहा गया है कि किसी के बारे में भी बुरा न सोचें. 

यह भी पढ़ें:  Vakri Shani इन Zodiac Signs के लोगों को अगले 2 महीने तक देंगे जबरदस्‍त कामयाबी, अभी चेक करें अपनी राशि

- जरूरी नहीं है कि आत्‍माएं हमेशा डराएं. वे कई बार असामान्‍य तरीकों से अपने परिजनों को केवल अपनी मौजूदगी का अहसास कराना चाहती हैं. 

- अपने परिवार से बहुत ज्‍यादा चाहत आत्‍माओं को उसी परिवार में फिर से बच्‍चे के रूप में जन्‍म लेने के लिए मजबूर कर देती है. इसीलिए कुछ बच्‍चों में मृत परिजन की आदतें, बोल-चाल या रहन-सहन का हूबहू तरीका देखने को मिलता है. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.