close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मंदिरों में लगा भक्तों का तांता, जानिए... मां दुर्गा का नाम क्यों पड़ा शैलपुत्री

हर साल की तरह इस नवरात्र में भी मां के नौ रूपों की पूरे भक्तिभाव के साथ पूजा-अर्चना होगी. जिसको लेकर देशभर के मंदिरों में भक्त पूरी आस्था के साथ मां दुर्गा की आराधना और भक्ति में लीन दिखाई दे रहे हैं.

मंदिरों में लगा भक्तों का तांता, जानिए... मां दुर्गा का नाम क्यों पड़ा शैलपुत्री

नई दिल्ली: शक्ति की आराधना का पावन पर्व शुरु हो चुका है. मंदिरों में मां दुर्गा की स्तुति के लिए भक्तों का सैलाब उमड़ रहा है. हर कोई पूरे भक्ति-भाव से शारदे की स्तुति कर रहा है. रविवार से शुरु हुए नवरात्र के पावन पर्व की छटा देश के अलग-अलग हिस्सों में बिखरी है. मां के दरबार में माता रानी के भक्त सुबह से ही हाजरी लगाने पहुंच रहे हैं.

मंदिरों में ही नहीं घरों में भी पूरे विधिविधान से मां शारदे की स्तुति की जा रही है. आज नवरात्र का पहला दिन है और भक्त देवी दुर्गा के 9 रूपों में पहले स्वरूप शैलपुत्री की आराधना में जुटे हैं.

देशभर के अलग-अलग शहरों और मंदिरों में लोगों की आस्था से जुड़ी ख़बरें आ रही है.

  • झंडेवालान मंदिर, दिल्ली

शारदीय नवरात्र के प्रारंभ के साथ ही दिल्ली के प्राचीन ऐतिहासिक झंडेवालान देवी मंदिर में नवरात्र का पावन पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है. झंडेवालान मंदिर में श्रद्धालु पहले दिन से ही पूजा अर्चना करते हैं. यही वजह है सुबह 3 बजे से ही मंदिरों के बाहर भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी. लंबी-लंबी कतारों में लगकर भक्त मां की एक झलक पाने के लिए बेताब हैं. दिल्ली के झंडेवालान मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया है. मान्यता है कि जो भी भक्त अपनी मुराद लेकर झंडेवालान देवी मंदिर में आता है. मां के आशीर्वाद से उसकी झोली कभी खाली नहीं रहती.

  • कालकाजी मंदिर, दिल्ली

दिल्ली के सभी छोटे-बड़े दुर्गा माता मंदिरों में उत्सव शुरू हो चुका है. खास कर दिल्ली-एनसीआर के मंदिरों का आकर्षण देखते ही बन रहा है. साउथ दिल्ली में स्थित कालकाजी मंदिर खास तरह के फूलों से सजाया गया है. सुबह से ही माता के दर्शन के लिए मंदिर के बाहर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है. भक्त पूरी आस्था से मां दुर्गा की एक झलक पाने के लिए लाइन में खड़े होकर घंटों इंतजार कर रहे हैं. कालकाजी मंदिर माता काली को समर्पित है, जिन्हें दुर्गा का अवतार माना जाता है. जो एक ऐतिहासिक और प्राचीन मंदिर है.

  • मुंबाजी, मुंबई

देशभर के दूसरे मंदिरों की तरह ही मुंबई में भी आज से नवरात्रि का उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है. मुंबई के प्राचीन मुम्बादेवी मंदिर में सुबह से ही भक्तों का भारी हुजूम उमड़ रहा है. नवरात्र के दिनों में यहां लाखों की संख्या में भक्त मां मुंबा देवी के दर्शन और और आशीर्वाद लेने पहुंचे हैं.

  • सतना

एमपी के सतना में भी पूरे भक्तिभाव के साथ नवरात्र की रौनक दिखाई दे रही है. नमामि देवी मां शारदे सिद्ध शक्तिपीठ मैहर त्रिकूट पर्वत पर विराजमान मां शारदा देवी के दर्शन के लिए दूर-दूर से आए भक्तों का सैलाब उमड़ रहा है. नवरात्रि के पहले दिन के दिव्य दर्शन और महा आरती में शामिल होने का भारी संख्या में भक्तों को सौभाग्य मिला. मैहर की मां शारदा देवी मंदिर के पट सुबह जैसे ही खुले मंदिर के प्रधान पुजारी के द्वारा माता का भव्य श्रृंगार और नवरात्र के पहले दिन की भव्य आरती की गई.

  • प्राचीन राम मंदिर, रांची

झारखंड की राजधानी रांची में भी प्राचीन राम मंदिर में नवरात्र की रौनक दिखाई दे रही है. यहां नवरात्र के दिनों में 351 कन्याओं से रामायण पाठ कराने की सालों से परंपरा है. यही वजह है कि मंदिर में सुबह से ही कार्यक्रम और पूजा अर्चना में भक्त और आयोजन जुटे हुए हैं.

  • कालीबाड़ी दुर्गा मंदिर, शिमला

नवरात्र के प्रारम्भ के साथ ही देवभूमि हिमाचल के सभी शक्तिपीठों में माहौल पूरी तरह से भक्तिमय हो चुका है. शिमला के प्राचीन कालीबाड़ी दुर्गा मंदिर में मां शारदे के दर्शन के लिए भक्तों का सुबह से ही तांता लगा हुआ है. बारिश और सर्द मौसम के मौसम बीच भक्त मां की आराधना के लिए भारी संख्या में भक्तों कें पहुंचने का सिलसिला जारी है. कालीबाड़ी मंदिर में माता के दर्शन करने के लिए श्रद्धालु शिमला से ही नहीं बल्कि देश के अलग-अलग राज्यों से मां के समक्ष नतमस्तक होने के लिए पहुंचते हैं. वहीं अष्टमी के दौरान काली बाड़ी मंदिर में मा दुर्गा की विशेष पूजा की जाती है जिसमें पश्चिम बंगाल से सर्वाधिक श्रद्धालुओं का यहां तांता लगा रहता है.

नवरात्र की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सभी देशवासियों को शारदीय नवरात्र की शुभकामनाएं दीं. पीएम मोदी ने देशवासियों से जीवन में नई ऊर्जा, नई उमंग की कामना की. और शक्ति की उपासना के पावन पर्व नवरात्रि की सभी को बहुत-बहुत बधाई कहा.

देवी दुर्गा के 9 रूप होते हैं. पहले स्वरूप में मां शैलपुत्री के नाम से जानी जाती हैं. पर्वत राज हिमालय के घर पुत्री रूप में जन्म लेने कारण माता का नाम शैलपुत्री पड़ा. और नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा-अर्चना होती है. इस बार शारदीय नवरात्र 29 सितंबर से शुरु होकर 7 अक्तूबर तक मनाया जाएगा. 8 अक्टूबर को विजयदशमी मनाई जाएगी. हर साल की तरह इस नवरात्र में भी मां के नौ रूपों की पूरे भक्तिभाव के साथ पूजा-अर्चना होगी. जिसको लेकर देशभर के मंदिरों में भक्त पूरी आस्था के साथ मां दुर्गा की आराधना और भक्ति में लीन दिखाई दे रहे हैं.