close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप: बजरंग को गोल्ड और प्रवीण को सिल्वर, सत्यव्रत ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

बजरंग पूनिया ने 65 किग्रा वर्ग में सोना जीता. उन्होंने फाइनल में कजाकिस्तान के सायातबेक ओकासोव को 12-7 से हराया. 

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप: बजरंग को गोल्ड और प्रवीण को सिल्वर, सत्यव्रत ने जीता ब्रॉन्ज मेडल
बजरंग पूनिया ने एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में दूसरी बार गोल्ड मेडल जीता है. (फोटो: IANS)

जियान (चीन): भारत ने चीन में जारी एशियन कुश्ती चैंपियनशिप (Asian Wrestling Championship) में अच्छी शुरुआत की है. उसने मंगलवार को एक गोल्ड समेत तीन मेडल जीत लिए. बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) ने भारत को इस चैंपियनशिप का पहला गोल्ड दिलाया. बजरंग का एशियन चैंपियनशिप में यह दूसरा स्वर्ण और कुल पांचवां पदक है. उन्होंने 2017 में भी स्वर्ण पदक जीता था. प्रवीण राणा (Pravin Rana) को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा. सत्यव्रत कादियान (Satyawart Kadian) ने 97 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया. 

बजरंग पूनिया ने 65 किग्रा वर्ग में कजाकिस्तान के सायातबेक ओकासोव को हराया. उन्होंने फाइनल मुकाबले में ओकासोवा को 12-7 से मात दी. बजरंग ने पहले राउंड में श्रीलंका के डिवोशन चार्ल्स फर्नाडो को 10-0 और क्वार्टर फाइनल में ईरानी पहलवान पेईमैन बियोकागा बियाबानी को 6-0 से हराया था. उन्होंने उज्बेकिस्तान के सिरोजिदिन खासानोव को 12-1 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में भी स्वर्ण जीत चुके बजरंग का यह एशियन चैंपियनशिप में पांचवां मेडल है. 

बजरंग के गुरु और लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले योगेश्वर दत्त ने इस सफलता पर अपने शिष्य को बधाई दी है. उन्होंने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘एशियाई चैंपियनशिप-2019 में स्वर्ण पदक जीतने पर आपको ढेरों शुभकामनाएं बजरंग बेटा. यह 2017 के बाद आपका दूसरा स्वर्ण है. हम सब को गर्व है आप पर. इसी तरह आगे बढ़ते रहें और टोक्यो ओलंपिक-2020 में भी देश का ध्वज ऊंचा करो.’ 

प्रवीण राणा को 79 किग्रा के फाइनल में ईरान के बहमान मोहम्मद तैमूरी से 0-3 से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा. वहीं, सत्यव्रत कादियान ने 97 किग्रा भार वर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया. सत्यव्रत क्वार्टर फाइनल में हार गए थे. उन्हें हराने वाले मंगोलियाई पहलवान फाइनल में पहुंचे. इसी कारण सत्यव्रत को कांस्य पदक मुकाबले में उतरने का मौका मिला. 

भारत ने चीन में आयोजित इस चैंपियनशिप में 30 सदस्यीय टीम उतारी है. इनमें 10 महिला पहलवान शामिल हैं. ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडल विजेता साक्षी मलिक (62 किलो) महिला पहलवानों की अगुवाई करेंगी. पुरुषों के दोनेां वर्ग (फ्रीस्टाइल व ग्रीको रोमन) में 10-10 पहलवान उतरेंगे. 

(आईएएनएस)