close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs AUS: धोनी के घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई टीम ने तोड़ दिया अपना ही पुराना रिकॉर्ड

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब भारत को जीतने के लिए 314 रनों का विशाल लक्ष्य छूना होगा.

IND vs AUS: धोनी के घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई टीम ने तोड़ दिया अपना ही पुराना रिकॉर्ड
मेहमान टीम के बल्लेबाजों ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट खोकर 313 रन बनाए. (फाइल फोटो)

रांची: ऑस्ट्रेलिया ने शुक्रवार को जेएससीए इंटरनेशनल स्टेडियम (JSCA International Stadium) में खेले जा रहे तीसरे वनडे मैच में भारत के सामने 314 रनों की चुनौती रखी है. अब भारत को जीतने के लिए 314 रनों का विशाल लक्ष्य छूना होगा. यहां भारत ने टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाजी के लिए बुलाया. मेहमान टीम के बल्लेबाजों ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट खोकर 313 रन बनाए.

खास बात यह है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने  इस मैच में अपना पुराना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है. दरअसल, रांची के इस मैदान पर भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने 23 अक्टूबर 2013 को एक वनडे मैच खेला था, जिसमें कंगारू टीम ने 8 विकेट के नुकसान पर 295 रन बनाए थे. तब यह इंटरनेशनल वनडे मैच में किसी भी टीम की तरफ से इस मैदान पर बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर था. इसमें भारत को जीतने के लिए 296 रनों का लक्ष्य हासिल करना था, लेकिन बेमौसम बारिश की वजह से मैच रद्द कर दिया गया. टीम इंडिया 4.1 ओवर ही खेल पाई थी और उस दौरान 27 रन सकी थी.

वहीं, श्रीलंका के खिलाफ भारत ने भी इस मैदान पर 16 नवंबर 2014 को खेले गए वनडे में सात विकेट गंवाकर 288 रन का लक्ष्य दिया था. इस मैच में श्रीलंकाई टीम महज 2 रन से हार गई थी. उससे पहले न्यूजीलैंड टीम ने 26 अक्टूबर 2016 को सात विकेट के नुकसान पर 260 रन बनाए थे. जिसके खिलाफ भारतीय टीम 241 रन बनाकर ऑल आउट हो गई थी.

अब छह साल बाद खेले जा रहे इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों 313 रनों का विशाल स्कोर बना दिया है. बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा ने 113 गेंदों पर 11 चौके और एक छक्के की मदद से 104 रनों की पारी खेली. वहीं कप्तान एरॉन फिंच ने 99 गेंदों पर 93 रन बनाए जिसमें 10 चौके और तीन छक्के शामिल हैं. इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 193 रनों की साझेदारी की जो इस मैदान पर किसी भी विकेट के लिए अभी तक की सबसे बड़ी साझेदारी है.

भारत के लिए कुलदीप यादव ने तीन विकेट लिए. मोहम्मद शमी को एक सफलता मिली.