close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वनडे टीम में जगह बनाने के लिए स्पेशलिस्ट बल्लेबाज से विकेटकीपर बनने को तैयार है यह खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम में अभी कोई भी विकेटकीपर अपनी जगह पक्की नहीं कर सका है. ऐसे में वर्ल्ड कप के लिए विकेटकीपर की सीट खाली है. 

वनडे टीम में जगह बनाने के लिए स्पेशलिस्ट बल्लेबाज से विकेटकीपर बनने को तैयार है यह खिलाड़ी
27 साल के पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 16 टेस्ट, 11 वनडे और एक टी20 मैच खेल चुके हैं. (फोटो: IANS)

बेंगलुरू: भारत के खिलाफ पहले टी20 मैच में जब ऑस्ट्रेलिया की टीम फील्डिंग करने उतरी तो विकेटकीपर की भूमिका पीटर हैंड्सकॉम्ब के जिम्मे थी. हैंड्सकॉम्ब स्पेशलिस्ट बल्लेबाज हैं. ऐसे में उन्हें विकेटकीपर की भूमिका में देखकर थोड़ी हैरानी हुई. इसकी वजह यह भी थी कि ऑस्ट्रेलिया की टीम में एलेक्स कैरी के रूप में स्पेशलिस्ट विकेटकपर पहले से हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि हैंड्सकॉम्ब को दीर्घकालिक योजना के तहत यह भूमिका सौंपी गई है. ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम में अभी कोई भी विकेटकीपर अपनी जगह पक्की नहीं कर सका है. ऐसे में वर्ल्ड कप के लिए विकेटकीपर की सीट खाली है. 

टी20 मैच में विकेटकीपर की भूमिका निभाकर हैरान करने वाले पीटर हैंड्सकोंब ने कहा कि वे वनडे मैचों में भी यह भूमिका निभाना चाहते हैं और काम के बोझ को देखते हुए अपनी फिटनेस पर काम करने को तैयार हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं विकेटकीपिंग कर सकता हूं. मुझे सिर्फ इतना सुनिश्चित करना होगा कि मैं फिट रहूं, जिससे कि 50 ओवर के मैच में पहले फील्डिंग के बाद भी चौथे या पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतर सकू. मैं यह सुनिश्चित करूं कि विकेटकीपिंग के बाद भी तेजी से दौड़ सकता हूं और टीम के लिए सब कुछ सही कर सकता हूं.’ 

यह भी पढ़ें: खिलाड़ियों ने किया वायुसेना को सलाम; वीरेंद्र सहवाग ने कहा- सुधर जाओ, वरना सुधार देंगे

एलेक्स कैरी के पांच मैचों की वनडे सीरीज के लिए टीम में वापसी करने की उम्मीद है. दूसरी ओर, हैंड्सकॉम्ब मौका मिलने पर पूरे दौरे के दौरान विकेटकीपर की भूमिका जारी रखना चाहते हैं. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने ‘क्रिकेट.काम.एयू’ से कहा, ‘टी20 में चीजें काफी तेजी से होती हैं. वनडे मैचों में चीजें थोड़ी कड़ी हो सकती हैं. विशेषकर भारत में थोड़ी गर्मी के बीच और स्पिन की अनुकूल पिचों पर विकेटों के करीब अधिक खड़ा होना पड़ता है. इसलिए यह थोड़ा कड़ा हो सकता है लेकिन मैं इसे लेकर उत्सुक हूं.’

पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 2017 में भारत और न्यूजीलैंड के सीमित ओवरों के दौरे के दौरान सहायक कोच और विश्व कप विजेता विकेटकीपर ब्रैड हैडिन के साथ काम किया था और उन्होंने अपनी विकेटकीपिंग में सुधार का श्रेय उन्हीं को दिया. ऑस्ट्रेलिया ने पहले टी20 में भारत को तीन विकेट से हराया था. दूसरा टी20 बुधवार को बेंगलुरू में खेला जाएगा.

(इनपुट: भाषा)