close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsAUS: 12 रन के अंतराल में 3 विकेट गंवाकर भी जीता भारत, ये रहे मैच के 5 हीरो

भारत ने एक समय 99 रन पर 4 विकेट गंवा दिए थे. टीम उस वक्त दबाव में थी, लेकिन एमएस धोनी और केदार जाधव ने जीत दिला दी. 

INDvsAUS: 12 रन के अंतराल में 3 विकेट गंवाकर भी जीता भारत, ये रहे मैच के 5 हीरो
केदार जाधव और एमएस धोनी ने मैच में 141 रन की साझेदारी की. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) हार का सिलसिला तोड़ते हुए पहला वनडे मैच छह विकेट से जीत लिया है. हैदराबाद में खेला गया यह मैच लो-स्कोरिंग होने के बावजूद बेहद रोमांचक रहा. ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में सात विकेट पर 236 रन बनाए. जब भारत बैटिंग करने उतरा तो लगा कि वह आसानी से लक्ष्य हासिल कर लेगा. भारत एक समय एक विकेट पर 87 रन बनाकर आसान जीत की ओर बढ़ रहा था. लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने अगले 12 रन में भारत के तीन विकेट झटककर मैच रोमांचक बना दिया. भारत 99 रन पर चार विकेट गंवाकर दबाव में था. दबाव के इन पलों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर एमएस धोनी (MS Dhoni) और केदार जाधव (Kedar Jadhav) ने शानदार बैटिंग कर भारत को जीत दिला दी. भारतीय जीत के पांच हीरो...

केदार जाधव ने खेली मैच की सबसे बड़ी पारी
इस मैच में ऑलराउंडर केदार जाधव (81 रन, 87 गेंद) का प्रदर्शन लाजवाब रहा. उन्होंने भारत की ओर से मैच में पहला अर्धशतक बनाया. उन्होंने भारत की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी की और एमएस धोनी (59 रन, 72 गेंद) के साथ 141 रन जोड़े. ध्यान रहे जब वे बैटिंग करने आए तब भारत 24वें ओवर में 99 रन पर चौथा विकेट गंवाकर दबाव में था. यह तो रही, केदार के बैटिंग की बात. वैसे उन्होंने इससे पहले बेहतरीन गेंदबाजी भी की और ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी साझेदारी को भी तोड़ा. उन्होंने मार्कस स्टोइनिस (37) को तब आउट किया, जब वे उस्मान ख्वाजा के साथ 88 रन की साझेदारी कर चुके थे. 

शमी की सटीक गेंदबाजी, मैक्सवेल को भी बोल्ड किया
तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ( Mohammed Shami) ने मैच में गजब की गेंदबाजी की. उन्होंने 10 ओवर के स्पेल में दो विकेट झटके और सिर्फ 44 रन खर्च किए. शमी का दूसरा स्पेल बेहद खतरनाक था. उन्होंने शुरुआती स्पेल में 4 ओवर किए, जिसमें से 2 मेडन थे. दूसरे स्पेल में 3 ओवर किए और 12 रन देकर 2 विकेट ले लिए. उन्होंने खतरनाक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल और एश्टन टर्नर को बोल्ड किया. इसके बाद स्लॉग ओवर के तीन ओवर में 26 रन दिए, जो खराब नहीं कहा जा सकता. 

कुलदीप ने ऑस्ट्रेलिया के टॉप स्कोरर को आउट किया
चाइनामैन कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) ने 10 ओवर के स्पेल में 46 रन देकर 2 विकेट झटके. उन्होंने ना सिर्फ बीच के ओवरों में ऑस्ट्रेलिया पर दबाव में बनाए रखा, बल्कि विरोधी टीम के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले उस्मान ख्वाजा (50) को भी आउट किया. कुलदीप ने पीटर हैंड्सकॉम्ब (19) को जिस तरह से चकमा देकर स्टंपिंग करवाया, वह देखने लायक था. 

एमएस धोनी ने फिर निभाई फिनिशर की भूमिका 
एमएस धोनी ने भी इस मैच में उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन किया. उन्होंने पहले विकेटकीपिंग करते हुए हैंड्सकॉम्ब को स्टंपिग किया. फिर बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतक जमाया. वे तब बैटिंग करने आए, जब भारत ने 95 के टीम स्कोर पर रोहित शर्मा का विकेट गंवाया. उनके क्रीज पर आने के 4 रन बाद ही अंबति रायडू भी चलते बने. 99 के स्कोर पर 4 विकेट गंवाने के बाद टीम इंडिया की रणनीति यही थी कि धोनी आखिरी ओवर तक टिककर बैटिंग करें. धोनी ने यही किया और भारत ने यह मैच जीत लिया. 

बुमराह ने फिंच को आउट कर स्वर्णिम शुरुआत दी
तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने इस मैच में भारत को स्वप्निल शुरुआत दी. उन्होंने मेहमान टीम के कप्तान एरॉन फिंच को अपने पहले ही ओवर में चलता कर दिया. फिंच खाता भी नहीं खोल सके. बुमराह के इस झटके ने ऑस्ट्रेलिया को शुरुआत में ही दबाव बना दिया. वह इस दबाव से अंत तक नहीं उबर सका और कभी भी खुलकर रन नहीं बन सका. हालांकि, बुमराह इस मैच में अपने सर्वश्रेष्ठ लय से दूर दिखे और उन्होंने 10 ओवर के स्पेल में 2 विकेट लेने के लिए 60 रन दे दिए. बुमराह ने 28 मैच और 18 महीने बाद किसी वनडे मैच में 60 रन खर्च किए हैं.