INDvsAUS: टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच बोले- हार की इससे बेहतर टाइमिंग नहीं हो सकती थी

भारत और ऑस्ट्रेलिया 5 मैचों की सीरीज में 2-2 से बराबरी पर हैं. सीरीज का निर्णायक मुकाबला बुधवार को खेला जाना है. 

INDvsAUS: टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच बोले- हार की इससे बेहतर टाइमिंग नहीं हो सकती थी
भरत अरुण टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (India vs Australia) चौथे वनडे में मिली हार से निराश नहीं हैं. उन्होंने मंगलवार को कहा कि पिछले मैच की हार ने टीम को बताया है कि विश्व कप (World Cup 2009) जैसे अहम टूर्नामेंट में जाने से पहले टीम को सुधार की कहां जरूरत है. भारत ने मोहाली में खेले गए चौथे मैच में ऑस्ट्रेलिया के सामने 359 रन का लक्ष्य रखा था, जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 47.5 ओवर में ही हासिल कर लिया था. 

भारत का मजबूत गेंदबाजी आक्रमण विशाल लक्ष्य को बचा नहीं पाया था. ऐसा पहली बार नहीं हुआ था कि भारत के गेंदबाज विफल रहे हों. रांची में खेले गए तीसरे वनडे में भी भारतीय गेंदबाजों को काफी मार पड़ी थी. भारत और ऑस्ट्रेलिया पांच मैचों की सीरीज में 2-2 से बराबरी पर हैं और सीरीज का निर्णायक मुकाबला बुधवार को फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेला जाना है. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: विजय शंकर को मिले नंबर-4 पर मौका, रायडू फायदा नहीं उठा सके: मांजरेकर

मैच से एक दिन पहले भरत अरुण ( Bharat Arun) ने कहा, ‘अगर आप हमारे गेंदबाजों की सफलता का प्रतिशत देखेंगे तो यह 75 फीसदी तक रहा है. ऐसी चीजें होती हैं. मैं खुश हूं कि यह इस समय हुआ जिससे हमें पता चला कि विश्व कप से पहले हमें कहां काम करने की जरूरत है.’ पिछले मैच में ऑस्ट्रेलिया के एश्टन टर्नर ने 43 गेंदों पर 84 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी. इस पर भरत अरुण ने कहा, ‘आपको इसके लिए एश्टन टर्नर को श्रेय देना होगा. ओस ने भी बड़ा काम किया. मैं बहाने बनाने की कोशिश नहीं कर रहा हूं. हमने उस तरह से गेंदबाजी नहीं की, जैसी रणनीति बनाई थी. हम मजबूती से वापसी करेंगे.’

लगातार मैच खेलने के कारण भारतीय टीम ने मंगलवार को अभ्यास नहीं किया. टीम के गेंदबाजी कोच ने कहा है कि 30 मई से इंग्लैंड में शुरू हो रहे वनडे विश्व कप से पहले टीम संयोजन लगभग तैयार है. भरत ने कहा, ‘टीम संयोजन को लेकर लगभग आश्वस्त हैं. हम सभी तरह के संयोजन आजमाना चाहते हैं ताकि विश्व कप में जाने से पहले सुधार की कोई गुंजाइश नहीं रहे.’ 

(आईएएनएस)