Breaking News
  • देश भर में बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, कई राज्‍य सरकारों ने केंद्र से की सिफारिश: सूत्र
  • महबूबा मुफ्ती को सरकारी निवास से घर शिफ़्ट किया गया लेकिन वो PSA के तहत रहेंगी नजरबंद
  • तबलीगी जमात की कारगुज़ारियों के खिलाफ मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, जमात की एक्टिविटी पर रोक लगाने की मांग
  • BSF ने अपने जवानों से कहा- 21 अप्रैल तक जहां हैं, वहीं रहें

नाबाद 57 बनाकर भारत को जीत दिलाने वाले केएल राहुल को अभी भी है इस बात का मलाल

 भारत ने अपने 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर ऑकलैंड में भी अपना विजयी तिरंगा लहरा दिया है. 

नाबाद 57 बनाकर भारत को जीत दिलाने वाले केएल राहुल को अभी भी है इस बात का मलाल
केएल राहुल ने 50 गेंदों में नाबाद 57 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिला दी.

ऑकलैंड: भारत ने अपने 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर ऑकलैंड में भी अपना विजयी तिरंगा लहरा दिया है. भारत ने दूसरे टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को सात विकेट से हरा दिया. लो स्कोरिंग मैच में भारतीय टीम ने अपने दो विकेट जल्द गंवा दिए लेकिन बाद में केएल राहुल ने 50 गेंदों में नाबाद 57 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिला दी. लोकेश राहुल ने लगातार दूसरे अर्धशतक लगाया है. उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना ग्या. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने पांच मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है. भारत ने पहला मैच भी छह विकेट से जीता था. यह पहली बार है जब भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार दो टी-20 मैच जीते हैं.

टॉस हारकर पहले गेंदबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट पर 132 रनों पर रोक दिया और फिर 15 गेंद शेष रहते तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. न्यूजीलैंड से मिले 133 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही और उसने आठ रन के स्कोर पर ही ओपनर रोहित शर्मा (8) का विकेट खो दिया.

इसके कप्तान विराट कोहली (11) भी टीम के 39 के स्कोर पर आउट हो गए. कप्तान के आउट होने के बाद पिछले मैच के अर्धशतकधारी राहुल और श्रेयस अय्यर (44) ने तीसरे विकेट के लिए 86 रनों की साझेदारी करके भारत को जीत की मंजिल तक पहुंचा दिया. राहुल ने 50 गेंदों पर तीन चौके और दो छक्के, जबकि अय्यर ने 33 गेंदों पर एक चौके और तीन छक्के लगाए. शिवम दुबे चार गेंदों पर एक छक्के की मदद से आठ रन बनाकर नाबाद लौटे.

मैच के बाद केएल राहुल ने कहा, "निश्चित रूप से परिस्थितियां भिन्न थीं. यह पिच कुछ दिन पहले खेले गए मैच से अलग थी. मुझे पता था कि क्या करना है. हालांकि, मैं उस तरह की पारी नहीं खेल सका जो मैंने पिछले मैच में खेली थी. मेरी जिम्मेदारी अलग थी. हमने रोहित और कोहली के विकेट जल्दी गंवा दिए थे, इसलिए मुझे पिच पर टिकना था. मैं तेजी से रन क्यों नहीं बना सका, इस पर मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या जवाब दूं." राहुल ने आगे कहा, "गेम को लेकर मेरी समझ ने लगातार अच्छे रन बनाने में मेरी मदद की है. मैं हमेशा टीम और उसकी जरूरतों को आगे रखता हूं. मैंने बाद ने शॉट का सही सेलेक्शन किया. यही टी-20 फॉर्मेट के लिए मेरा मंत्र है."